Follow us on
Wednesday, July 08, 2020
India

यातायात जाम से बेहाल हुआ उत्तराखंड

June 12, 2019 10:19 AM
Jagmarg News Bureau

देहरादून (भाषा) - पूरे उत्तर भारत में पड़ रही प्रचंड गर्मी से बेहाल पर्यटक पहाडों की ठंडी फिजाओं का आनंद लेने के लिए उत्तराखंड का रूख कर रहे हैं लेकिन भारी संख्या में आ रहे वाहनों से चारधाम यात्रा मार्ग सहित प्रदेश के सभी प्रमुख पर्यटक स्थलों में लंबे लंबे ट्रैफिक जाम लग रहे हैं।

चमोली के एक अधिकारी ने बताया कि ट्रैफिक जाम में फंसने के कारण पर्यटकों और श्रद्धालुओं को अपने गंतव्य तक पहुंचने में सामान्य के मुकाबले दोगुना समय तक लग रहा है। जाम की स्थिति इतनी भयावह है कि हरिद्वार से बदरीनाथ पहुंचने में सामान्यत: लगने वाले नौ घंटे की बजाय 18 घंटे तक लग रहे हैं ।

हरिद्वार के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जन्मेजय खंडूरी ने बताया कि आजकल हरिद्वार से प्रतिदिन अस्सी हजार से ज्यादा वाहन गुजर रहे हैं। यातायात को नियंत्रित करने के लिये अतिरिक्त पुलिस बल लगाया गया है लेकिन फिर भी पर्यटकों को कम से कम चार—पांच घंटे ट्रैफिक में गुजारने पड़ रहे हैं ।

यह स्थिति केवल हरिद्वार की ही नहीं है बल्कि ऋषिकेश, मसूरी, देहरादून, रूद्रप्रयाग, गंगोत्री, यमुनोत्री और नैनीताल के हालात भी इससे जुदा नहीं है ।  जोशीमठ ब्लाक के प्रधान प्रकाश रावत ने कहा कि यात्रियों के वाहनों की बढती संख्या के अलावा हर मौसम में खुली रहने वाली सड़क परियोजना के लिए सड़कों पर मलबा रहने के कारण भी जाम की स्थिति बन रही है ।

उन्होंने कहा कि अगर इस मलबे का यात्रा आरंभ होने से पहले सही जगहों पर निस्तारण कर दिया जाता तो आज हालात इतने बुरे नहीं होते । हालांकि, चमोली की जिलाधिकारी स्वाति एस भदोरिया ने कहा कि सड़क निर्माण का मलबा ज्यादातर स्थानों से हटाया जा चुका है और बाकी जगहों से भी उसे हटाने की कार्रवाई चल रही है ।

उन्होंने कहा कि जाम लगने की मुख्य वजह प्रदेश में आ रहे वाहनों की बढती संख्या के मददेनजर पार्किंग क्षेत्र की कमी होना भी है । यमुनोत्री धाम के रास्ते में जानकीचटटी से स्यानाचटटी और गंगनानी से सुक्की टॉप तक का 13 किलोमीटर का हिस्सा यातायात के लिये दो बडे़ अवरोध सिद्ध हो रहे हैं जहां मार्ग संकरा होने के कारण एक बार में केवल दो ही वाहन गुजर सकते हैं ।

उत्तरकाशी के जिलाधिकारी आशीष चौहान ने यातायात जाम के लिये गंगोत्री और यमुनोत्री आने वाले मार्गों पर छोटे वाहनों की बढती जा रही संख्या को जिम्मेदार ठहराया । यमुनोत्री और गंगोत्री के सात मई को कपाट खुलने के बाद से अब तक वहां 51480 छोटे वाहन आ चुके हैं जबकि पिछले साल पूरे सीजन में यह संख्या कुल 56,291 थी ।

नैनीताल के अपर जिलाधिकारी हरबीर सिंह ने बताया कि नैनीताल आ रहे पर्यटकों के लिये वाहन पार्किंग की व्यवस्था रूसी बाइपास और कालाढूंगी रोड पर चारखेत में की गयी है जिससे शहर की सडकों पर यातायात के दबाव को कम किया जा सके।

उन्होंने बताया कि इन स्थानों पर अपने वाहन खडे़ करने वालों को शटल सेवा के माध्यम से नैनीताल भेजा जा रहा है। देहरादून की शहर पुलिस अधीक्षक श्वेता चौबे ने बताया कि सोमवार को मसूरी—हरिद्वार रोड और देहरादून में दून—दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग पर सहारनपुर चौक पर कई घंटे लंबा जाम लगा रहा जिसे अतिरिक्त पुलिस बल तैनात कर किसी तरह हटाया गया ।

Have something to say? Post your comment
 
More India News
अमेरिका औपचारिक रूप से विश्व स्वास्थ्य संगठन से अलग हुआ पत्रकार की आत्महत्या मामले की जांच की मांग भारत में कोविड-19 के मामलों की संख्या सात लाख के पार दिल्ली की अदालत ने निजामुद्दीन मरकज मामले में 122 मलेशियन नागरिकों को दी जमानत सीबीएसई ने 9वीं से 12वीं का पाठ्यक्रम 30 फीसदी घटाया केजरीवाल की अस्पतालों से अपील, कोविड-19 से स्वस्थ लोगों को प्लाज्मा दान करने के लिए प्रोत्साहित करें गलवान घाटी से पीछे हटते दिखी चीनी सेना - सूत्र भारत में कोविड-19 के मामलों की संख्या सात लाख के निकट भारत में कोविड-19 जांचों की संख्या एक करोड़ के पार संवेदनशील जानकारी पाने के लिए दविंदर सिंह को पाकिस्तान ने किया था तैयार - एनआईए चार्जशीट