Follow us on
Tuesday, July 23, 2019
Punjab

पंजाब के प्रतिनिधिमंडल द्वारा मेघालय के गृह मंत्री के साथ मुलाकात

June 21, 2019 09:30 AM

शिलौंग (मेघालय) - उत्तर -पूर्वी राज्य के दौरे के दूसरे दिन पंजाब के उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल ने आज प्रात:काल मेघालय के गृह मंत्री जेम्ज़ के संगमा के साथ मुलाकात करके उनको इस काफ़ी समय से लंबित पड़े मसले का जल्द और सुखदायक हल निकालने की अपील की। प्रतिनिधिमंडल ने मेघालय सरकार द्वारा इस मुद्दे पर गठित उच्च शक्ति प्राप्त समिति को भी अपील की कि किसी निष्कर्ष पर पहुँचने से पहले सिख परिवारों की सभी चिंताओं को भी विचारा जाये।

यह प्रतिनिधिमंडल पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की तरफ से भेजा गया है जिससे शिलौंंग में बसे सिखों को धमकियां देने की रिपोर्टों के मद्देनजऱ ज़मीनी स्थिति का पता लगाया जा सके।

प्रतिनिधिमंडल ने गृह मंत्री को शिलोंग के पंजाबी लेन एरीये में दशकों से रह रहे सैंकड़ों सिख परिवारों की सुरक्षा को भी यकीनी बनाने की अपील की। उन्होंने महसूस किया कि मेघालय सरकार को भाईचारे में विश्वास कायम रखने के लिए इस तरफ़ और कदम उठाए जाने चाहिएं।

शिलोंग म्यूंसिपल बोर्ड की तरफ से वहाँ बसेे सिखों को जारी किये गए नोटिस के मुद्दे पर प्रतिनिधिमंडल ने गृह मंत्री को अल्पसंख्यक भाईचारे के मन में से हर किस्म की शंकाओं को दूर करने की अपील की।

प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि वहाँ बसेे सिखों को निकालने के लिए स्थानीय अथॉरिटी की तरफ से की जाने वाली कोई भी स्वेच्छित कार्यवाही सिख भाईचारे की आज़ादी और कहीं भी जाकर बसने के अधिकार का हनन होगा।

मेघालय सरकार की तरफ से स्थिति से निपटने के लिए किये गए यत्नों पर तसल्ली ज़ाहिर करते हुए प्रतिनिधिमंडल ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह की ओर से गृह मंत्री का धन्यवाद किया जिन्होंने संकट को टालने के लिए सक्रिय कोशिशें कीं। इसके साथ ही प्रतिनिधिमंडल ने कुछ ग्रुपों द्वारा और मुश्किलें खड़ी करने के लिए की जाने वाली कोशिशों पर नज़र रखने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया।

मीटिंग के दौरान प्रतिनिधिमंडल के प्रमुख कैबिनेट मंत्री सुखजिन्दर सिंह रंधावा ने मेघालय के गृह मंत्री को कैप्टन अमरिन्दर सिंह द्वारा वहाँ के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा को लिखा पत्र भी सौंपा।

गृह मंत्री ने प्रतिनिधिमंडल को भरोसा दिया कि मेघालय में सिखों के हितों की रक्षा के लिए हर यत्न किया जायेगा। उन्होंने प्रतिनिधिमंडल को यह भी विश्वास दिलाया कि उप मुख्यमंत्री के नेतृत्व में गठित की गई उच्च शक्ति प्राप्त समिति की तरफ से इस मुद्दे के साथ जुड़े हर पहलू को विचारा जा रहा है और कोई भी अंतिम फ़ैसला सिफऱ् इस पर ही निर्भर होगा।

पाबन्दीशुदा हाईनेविटे्रप नेशनल लिब्रेशन कौंसिल द्वारा दी धमकियोंं के मुद्दे पर गृह मंत्री ने प्रतिनिधिमंडल को भरोसा दिया कि चाहे इस संगठन का कोई अस्तित्व नहीं है परन्तु फिर भी राज्य सरकार पूरी तरह चौकस है और इस सम्बन्धी सुरक्षा के पुख़्ता इंतज़ाम किये जा चुके हैं। मीटिंग के दौरान श्री संगमा ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह के साथ भी फ़ोन पर बातचीत की और वहाँ बसेे परिवारों को उनकी सरकार द्वारा हर संभव सहायता देने का भरोसा दिया।

गृह मंत्री ने प्रतिनिधिमंडल को अवगत करवाया कि मुख्यमंत्री कोनराड संगमा पंजाब के मुख्यमंत्री के साथ लगातार संपर्क में हैं और कैप्टन अमरिन्दर सिंह जो ख़ुद निगरानी और जायज़ा ले रहे हैं, को स्थिति बारे अवगत करवाते रहेंगे।

कैबिनेट मंत्री सुखजिन्दर सिंह रंधावा के अलावा प्रतिनिधिमंडल में संसद मैंबर जसबीर सिंह गिल, विधायक कुलदीप सिंह वैद और कुलबीर सिंह ज़ीरा शामिल हैं। विशेष सचिव योजनाबंदी डी.एस. मांगट भी प्रतिनिधिमंडल में शामिल हैं।

Have something to say? Post your comment
 
More Punjab News
कलोनियों को रेगुलर करने के लिए गमाडा हर हफ़्ते लगाएगी कैंप
पंजाब से नशे की समस्या को खत्म करने को हम प्रतिबद्ध हैं - हरप्रीत सिद्धू
पंजाब के राज्यपाल द्वारा भी सिद्धू का इस्तीफ़ा मंजूर
मांगे न मानने पर भड़के मुलाजिम, ऑफिस पर लगाया ताला
खेल मंत्री राणा सोढी द्वारा श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व को समर्पित खेल कैलेंडर जारी
बरगाड़ी मुद्दे पर सुखबीर बादल मगरमच्छ के आंसु बहाना बंद करे - कैप्टन अमरिन्दर सिंह
कलानौर में स्थापित किया जायेगा अत्याधुनिक प्रौद्यौगिकी वाला शूगरकेन रिर्सच एंड प्रशिक्षण इंस्टीट्यूट- रंधावा
पंजाब के कैबिनेट मंत्री पद से नवजोत सिंह सिद्धू ने दिया इस्तीफा
नाभा जेल में बंद पांच डेरा प्रेमियों को मिली जमानत
नशों से हरियाणा पंजाब को मुक्त करने पर मनोहर लाल व कैप्टन अमरिंदर एकमत