Follow us on
Tuesday, July 23, 2019
Himachal

रिलायंस उद्योग का उच्च स्तरीय मंडल प्रदेश में निवेश की संभावनाओं का पता लगाने शिमला पहुंचा

July 07, 2019 07:52 AM

शिमला - मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां रिलायंस उद्योग के शिमला पहुंचे एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल के साथ आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए जानकारी दी कि राज्य सरकार ने सोलन ज़िला के बद्दी में भूमि का एक बेहतरीय प्लॉट चिन्हित किया है जहां रिलायंस उद्योग मोबाईल असेम्बलिंग इकाइयां स्थापित कर सकता है।

रिलायंस उद्योग प्रदेश में कृषि, बागवानी उत्पाद, जियो नेटवर्किंग, खेल क्षेत्र, पर्यटन रिजॉर्ट तथा मोबाईल असेम्बलिंग इकाइयां स्थापित करने जैसे क्षेत्रों में निवेश की संभावनाओं का पता लगाने हिमाचल प्रदेश के दौरे पर आया है।

शिमला पहुंचने पर रिलायंस उद्योग के प्रतिनिधिमंडल के साथ मुख्यमंत्री तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की आयोजित एक उच्च स्तरीय बैठक में इस आश्य की जानकारी दी। यह प्रतिनिधिमंडल, अभी हाल ही में मुम्बई में मुख्यमंत्री की रिलायंस उद्योग के चेयरमेन मुकेश अंबानी के साथ हुई महत्वपूर्ण बैठक के परिणामस्वरूप प्रदेश के दौरे पर आया है।

इस अवसर पर प्रदेश में विद्यमान क्षमताओं एवं संभावनाओं का उल्लेख करते हुए, मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में जलवायु की विविध परिस्थितियों के कारण यहां अनेक प्रकार के फलों, सब्जियों और दालों इत्यादि के उत्पादन की व्यापक संभावनाएं हैं। उन्होंने कहा कि यह प्रदेश पहले ही सेब राज्य के रूप में जाना जाता है और देश का फल राज्य बनने की ओर अग्रसर है। उन्होंने कहा कि कृषि तथा बागवानी पर आधारित उद्योग लगाने की व्यापक संभावनाएं यहां विद्यमान हैं। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र पर ध्यान देने से जहां निवेशकों को अच्छे अवसर मिलेगें वहीं किसानों की आय दोगुना करने के सरकारी प्रयासों को भी बल मिलेगा।

जय राम ठाकुर ने कहा कि खाद्य एवं फल प्रसंस्करण एक अन्य क्षेत्र है जहां निवेश की व्यापक संभावनाएं विद्यमान हैं। उन्होंने कहा कि सेब व मशरूम यहां की मुख्य पैदावार है, जिनके बेहतर विपणन के लिए लॉजिस्टिक की आवश्यकता है। उन्होंने रिलायंस उद्योग को इस क्षेत्र में भी निवेश के लिए आगे आने को कहा ताकि यहां किसानों का न केवल ज्ञानवर्धन हो सके बल्कि उन्हें नई तकनीक की भी जानकारी प्रदान की जा सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पहाड़ी राज्य होने के नाते यहां युवा ऊर्जावान हैं और खेल गतिविधियों को व्यापक बढ़ावा देने के प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने रिलायंस ग्रुप से खेल क्षेत्र में भी आगे आने को कहा। उन्होंने कहा कि धर्मशाला तथा शिमला जैसे स्थलों में हाईएल्टीच्यूड प्रशिक्षण केन्द्र तथा प्रतिभा पहचान खेल केन्द्र स्थापित की व्यापक संभावनाएं हैं। उन्होंने प्रतिनिधिमंडल को जानकारी दी कि राज्य सरकार ने कांगड़ा के गग्गल के समीप सराह में 80 बीघा भूमि चिन्हित की है जहां एक सर्वश्रेष्ठ खेल केन्द्र विकसित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार मण्डी तथा शिमला में भी ऐसे केन्द्र स्थापित किए जा सकते हैं।

जय राम ठाकुर ने कहा कि जियो नेटवर्क की प्रदेश के 80 प्रतिशत लोगों तक पहुंच हो गई है तथा कम्पनी को प्रदेश में और अधिक बेहतर ओप्टीकलफाईबर नेटवर्क स्थापित करने के लिए आगे आना चाहिए। उन्होंने कहा कि उद्योगों को बढ़ावा देने की दृष्टि से भी ऐसा करना आवश्यक है। राज्य सरकार इसके लिए हरसंभव सहायता प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि जियो टावर स्थलों तक बिजली सुविधा उपलब्ध करवाने के भी सरकार प्रयास करेगी।

उल्लेखनीय है कि रिलायंस उद्योग के चेयरमेन के साथ मुख्यमंत्री की हुई बैठक में उन्होंने धर्मशाला में पंचतारा होटल स्थापित करने की इच्छा व्यक्त की थी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि इस कार्य के लिए उन्हें शीघ्र भूमि उपलब्ध हो ताकि यहां यह भव्य पर्यटक रिजॉर्ट स्थापित किया जा सके।

निदेशक उद्योग हंसराज शर्मा ने मुख्यमंत्री और रिलायंस उद्योग के प्रतिनिधियों का स्वागत किया।

राज्य के दौरे पर आई रिलायंस उद्योग की टीम के प्रमुख महेन्द्र नाहाटा ने रिलायंस उद्योग को राज्य में औद्योगिक इकाइयां स्थापित करने के लिए पूर्ण सहयोग का आश्वासन देने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि रिलायंस उद्योग राज्य में खाद्य प्रसंस्करण, खेल एवं स्वास्थ्य क्षेत्र, धर्मशाला में रिजॉर्ट स्थापित करने और बद्दी में मोबाईल असेम्बली इकाई में निवेश करने में गहरी रूचि रखता है।

उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह, अतिरिक्त मुख्य सचिव राम सुभग सिंह, मनोज कुमार और आर.डी. धीमान, प्रधान सचिव प्रबोध सक्सेना और जे.सी. शर्मा, निदेशक सूचना प्रौद्योगिकी रोहन चन्द ठाकुर, प्रबन्ध निदेशक हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत बोर्ड लिमिटेड जे.पी. कालटा, मुख्यमंत्री के प्रधान निजी सचिव और निदेशक युवा सेवाएं एवं खेल विनय सिंह और रिलायंस उद्योग के प्रतिनिधि श्याम मेदकर, वैंकट जी, कपिला आहुजा, विश्वास, अतुल कंसल, रोहित पुरी, निलेश भट्ट, आदित्य कंवर और अश्वनी नेगी भी इस बैठक में उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment
 
More Himachal News
कलराज मिश्र ने हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल के रूप में शपथ ली
नए भारत के निर्माण में निर्यातकों की भूमिका महत्त्वपूर्ण - जय राम ठाकुर
भूकंप पूर्व चेतावनी प्रणाली विकसित करने के लिए बैठक आयोजित
मुख्यमंत्री द्वारा पौधरोपण को जन आन्दोलन बनाने पर बल
मुख्यमंत्री, राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों, अधिकारियों, जन प्रतिनिधियों ने दी राज्यपाल को भावभीनी विदाई
हिमाचल प्रदेश में श्रीखंड महादेव यात्रा बहाल
राज्यपाल आचार्य देवव्रत के सम्मान में राजकीय रात्रि-भोज का आयोजन
100 मेगावाट के सौर ऊर्जा संयंत्र की स्थापना के लिए एमओयू हस्ताक्षरित
मुख्यमंत्री ने बचाव कार्य की निगरानी के लिए किया कुमारहट्टी का दौरा
हिमाचल प्रदेश में इमारत ढही, दो मरे, 23 घायल