Follow us on
Monday, November 18, 2019
Business

जल्द ही सिम कार्ड, आईएमईआई नंबर बदलने के बावजूद लग जाएगा चोरी के मोबाइल का पता

July 08, 2019 06:49 AM

नयी दिल्ली (भाषा) - अक्सर ऐसा होता है कि आपका फोन खो/चोरी हो जाता है और आप उसकी रपट भी लिखा देते हैं, लेकिन उसका सिम कार्ड या आईएमईआई नंबर बदलने की वजह से उसका पता लगाना मुश्किल हो जाता है। सरकार अगले महीने आपकी इस समस्या का समाधान पेश करने जा रही है।

सरकार अगले एक महीने में ऐसे प्रौद्योगिकी आधारित समाधान की शुरुआत करने जा रही जिससे सिम कार्ड या आईएमईआई नंबर बदले जाने के बावजूद खोए या चोरी के मोबाइल फोन का पता लगाया जा सकेगा। सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ टेलिमैटिक्स (सी-डीओटी) ने प्रौद्योगिकी तैयार कर ली है और इसे अगस्त में शुरू किये जाने की उम्मीद है।

दूरसंचार विभाग के एक अधिकारी ने जानकारी दी, 'सी-डॉट के पास प्रौद्योगिकी तैयार है। संसद सत्र के बाद दूरसंचार विभाग मंत्री से इस प्रणाली की शुरुआत के लिए संपर्क करेगा। यह अगले महीने लागू होनी चाहिए।'  संसद का मौजूदा सत्र 26 जुलाई तक चलेगा।

दूरसंचार विभाग ने जुलाई, 2017 में नकली मोबाइल फोन और चोरी की घटनाओं में कमी लाने के लक्ष्य के साथ सी-डॉट को 'सेंट्रल एक्विपमेंट आइडेंटीटी रजिस्टर' (सीईआईआर) विकसित करने का काम दिया था।  सरकार ने सीईआईआर के गठन के लिए 15 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की थी।

सीईआईआर प्रणाली सिम कार्ड निकालने या आईएमईआई नंबर बदले जाने के बावजूद चोरी या खोए हुए फोन पर सभी तरह की सेवाओं को अवरूद्ध कर देगी।

Have something to say? Post your comment
 
More Business News
सीमित दायरे में रह सकता है शेयर बाजार, वैश्विक संकेतों से तय होगी धारणा - विश्लेषक
विदेशी मुद्रा भंडार 448 अरब डॉलर के नये रिकार्ड स्तर पर पहुंचा
बैंकों में जमाकर्ताओं की बीमा सुरक्षा बढ़ायी जाएगी, सहकारी बैंकों के नियम का नया कानून बनेगा - सीतारणम
मानेसर संयंत्र के लिए समाधान तलाशने को लेकर विचार विमर्श - एचएमएसआई
बने फ्लैटों का स्टॉक निकालने में दिल्ली-एनसीआर के बिल्डरों को लगेंगे 44 महीने - रिपोर्ट
किसान अन्नदाता से ऊर्जादाता भी बनें - सीतारमण
बंबई शेयर बाजार में सतर्कतापूर्ण माहौल में कारोबार की नरमी के साथ शुरुआत
प्रधान संयुक्त अरब अमीरात के लिये रवाना, अबू धाबी पेट्रोलियम प्रदर्शनी में होंगे शामिल
करदाताओं के सहायक की भूमिका निभायें राजस्व अधिकारी - वित्त मंत्री
बीएसएनएल के 40,000 से अधिक कर्मचारी अपना चुके हैं स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति का विकल्प - चेयरमैन