Follow us on
Tuesday, July 23, 2019
World

नेपाल सरकार ने दलाई लामा का जन्मदिन मनाने की अनुमति देने से इनकार किया

July 08, 2019 06:52 AM

काठमांडू - नेपाल में दलाई लामा का जन्मदिन मनाने का कार्यक्रम सरकार द्वारा अनुमति नहीं दिये जाने के बाद रविवार को रद्द कर दिया गया। इसे नेपाल में पड़ोसी देश चीन के बढ़ते प्रभाव के एक और संकेत के तौर पर देखा जा रहा है।

नेपाल में करीब 20,000 तिब्बती शरण लिये हुए हैं, लेकिन बीजिंग के दबाव के चलते नेपाल की मौजूदा वाम सरकार शरणार्थियों की गतिविधियों पर सख्त रुख अपनाए हुए है। काठमांडू के सहायक मुख्य जिला अधिकारी कृष्ण बहादुर कटुवाल ने कहा, "अनुमति इसलिये नहीं दी गई क्योंकि वहां शांति और सुरक्षा को लेकर समस्या हो सकती है।"

उन्होंने कहा, "अब कुछ नहीं हो सकता लेकिन हमें अनुचित गतिविधियों और यहां तक कि आत्मदाह की संभावना को लेकर सजग रहना होगा।"  इससे पहले, शनिवार को तिब्बती समुदाय के इलाकों में भारी सुरक्षा बल तैनात था। इनमें एक बौद्ध मठ भी शामिल है, जहां दलाई लामा का 84वां जन्मदिन मनाया जाना था।

आयोजन समिति के एक सदस्य ने कहा, "काफी तैयारी की जा चुकी थी, लेकिन आखिर में हमें अनुमति नहीं मिली। सरकार लगातार सख्त बनती जा रही है, हम क्या कर सकते हैं।"  

उन्होंने कहा कि परिवारों ने अपने आध्यात्मिक नेता के जन्मदिन को निजी तौर पर घर पर मनाया।  गौरतलब है कि 10 मार्च 1959 को चीनी शासन के खिलाफ विद्रोह के बाद हजारों तिब्बती शरणार्थी सीमा पार कर नेपाल में आ गए थे, जिसकी वजह से दलाई लामा को शरण मांगनी पड़ी थी।

Have something to say? Post your comment
 
More World News
सीरिया में रूसी हवाई हमलों में 27 लोगों की मौत
पाकिस्तान में आत्मघाती हमले में नौ लोगों की मौत, तालिबान ने ली हमले की जिम्मेदारी
इमरान खान के साथ आतंकवाद, अफगान शांति वार्ता और शकील अफरीदी की रिहाई के मुद्दों पर बात करेंगे ट्रंप
अमेरिका के ईरानी ड्रोन मार गिराने के बाद खाड़ी में तनाव बढ़ा
ट्रंप के खिलाफ महाभियोग के पक्ष में नहीं है अमेरिका संसद
जमात-उद-दावा सरगना हाफिज सईद आतंकवाद के वित्त पोषण के आरोपों पर गिरफ्तार
अमेरिका से नफरत है तो देश छोड़कर चले जाओ - ट्रंप
पाकिस्तान की अदालत ने हाफिज सईद, उसके तीन सहयोगियों को अंतरिम जमानत दी
करतारपुर मसौदा समझौते पर भारत, पाकिस्तान के बीच 80 प्रतिशत और उससे अधिक सहमति बनी - फैसल
अमेरिका सैनिकों की वापसी पर भी अफगानिस्तान को सहयोग देना जारी रख सकता है भारत - पेंटागन