Follow us on
Friday, June 05, 2020
BREAKING NEWS
कोरोना वायरस संकट को एक अवसर के रूप में देख रहा है भारत - मोदीकोविड-19: देश में एक दिन में सबसे ज्यादा 9,304 नए मामले, मृतकों की संख्या 6,075 पहुंचीराहुल से बोले राजीव बजाज: कठोर लॉकडाउन से जीडीपी औंधे मुंह गिर गई और अर्थव्यवस्था तबाह हुईश्रमिकों को पूरा पारिश्रमिक देने में असमर्थ नियोक्ता न्यायालय में अपनी बैलेंस शीट पेश करें - केन्द्रअमेरिकी समाज के संस्थागत नस्लवाद को खत्म करने की जरुरत - संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुखहंगरी कप फुटबाल फाइनल में सामाजिक दूरी के नियम की उड़ी धज्जियांकोरोना वायरस महामारी का कंपनी के कारोबार पर अबतक कोई खास असर नहीं - नेस्ले इंडियासोनू सूद खुद भी कभी खाली हाथ आए थे मुंबई, इसलिए समझते हैं प्रवासियों का दर्द
Sports

एल्गर के शतक से दक्षिण अफ्रीका ने वापसी की

October 05, 2019 06:13 AM
Jagmarg News Bureau

विशाखापत्तनम (भाषा) - डीन एल्गर 2010 के बाद भारतीय सरजमीं पर शतक जड़ने वाले पहले दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज बने और इस सलामी बल्लेबाज की बेहतरीन पारी से उनकी टीम पहले टेस्ट क्रिकेट मैच के तीसरे दिन शुक्रवार को यहां शानदार वापसी करने में सफल रही।

दक्षिण अफ्रीका ने दिन की शुरुआत तीन विकेट पर 39 रन से की और तब मैच एकतरफा लग रहा था लेकिन चाय के विश्राम तक स्कोर पांच विकेट पर 292 रन पर पहुंच गया। भारतीय गेंदबाजों ने इस बीच 67 ओवर किये और उन्हें केवल दो विकेट मिले।

एल्गर (नाबाद 133) और फाफ डुप्लेसिस (55) ने पांचवें विकेट के लिये 115 रन की साझेदारी की। इसके बाद विकेटकीपर बल्लेबाज क्विंटन डिकाक (नाबाद 69) ने उनका अच्छा साथ दिया। इन दोनों ने छठे विकेट के लिये अब तक 114 रन जोड़े हैं।

भारत को दूसरे सत्र में केवल डुप्लेसिस का विकेट मिला जिन्हें रविचंद्रन अश्विन ने लेग गली में कैच कराया। पिच अब भी बल्लेबाजी के अनुकूल हैं लेकिन फिर दक्षिण अफ्रीका ने शानदार वापसी की, क्योंकि दूसरे दिन उसने अपने शीर्ष क्रम के तीन बल्लेबाज जल्दी गंवा दिये थे। दक्षिण अफ्रीका ने दूसरे सत्र में 37 ओवरों में 153 रन जोड़े लेकिन वह अब भी भारत से 210 रन पीछे है।

एल्गर ने उपमहाद्वीप की कड़ी परिस्थितियों में अपने कौशल का शानदार नजारा पेश किया और अपने टेस्ट करियर का 12वां शतक पूरा किया। हाशिम अमला के 2010 में शतक लगाने के बाद वह भारतीय धरती पर तिहरे अंक में पहुंचने वाले पहले दक्षिण अफ्रीकी हैं।

भारतीय स्पिनरों को तीसरे दिन शुरू से ही सबसे बड़ा खतरा माना जा रहा था लेकिन एल्गर ने बड़ी कुशलता से उनका सामना किया। उन्होंने दबाव हटाने के लिये कुछ अवसरों पर हवा में भी शॉट खेले। अब तक उनके बल्ले से 14 चौकों के अलावा चार छक्के भी निकल चुके हैं।

एल्गर ने अश्विन पर कॉउ कार्नर पर छक्का जड़कर लाजवाब अंदाज में अपना शतक पूरा किया। दूसरी तरफ डुप्लेसिस के 58वें ओवर में आउट होने के बाद डिकाक ने स्पिनरों को निशाने पर रखा। वह सीमित ओवरों की शैली में खेले और अब तक 11 चौके और एक छक्का लगाने में सफल रहे हैं। भारत ने हनुमा विहारी और रोहित शर्मा जैसे कामचलाऊ स्पिनर भी आजमाये लेकिन इससे कोई असर नहीं पड़ा।

दक्षिण अफ्रीका ने सुबह तेम्बा बावुमा (18) का विकेट जल्दी गंवा दिया जिससे स्कोर चार विकेट पर 63 रन हो गया। बावुमा को इशांत शर्मा ने पगबाधा आउट किया। इसके बाद एल्गर ने डुप्लेसिस ने भारतीय आक्रमण का डटकर सामना किया तथा लंच तक स्कोर चार विकेट पर 153 रन पर पहुंचाया।

इस बीच एल्गर जब 74 रन पर थे तब रविंद्र जडेजा की गेंद पर साहा उनका मुश्किल कैच नहीं ले पाये। दूसरी तरफ डुप्लेसिस सहज होकर खेल रहे थे उन्होंने अश्विन पर पारी का पहला छक्का लगाया। डुप्लेसिस की पारी में आठ चौके और एक छक्का शामिल है।

Have something to say? Post your comment
 
More Sports News
हंगरी कप फुटबाल फाइनल में सामाजिक दूरी के नियम की उड़ी धज्जियां राष्ट्रीय खेल पुरस्कार : मंत्रालय ने समयसीमा 22 जून तक बढाई, स्वयं नामांकन की अनुमति रीजीजू ने खेलो इंडिया सामुदायिक कोच विकास कार्यक्रम को शुरू किया रीजीजू, मुंडा ने खेलो इंडिया ई पाठशाला कार्यक्रम का उद्घाटन किया खिलाड़़ियों के लिये चार्टर्ड विमान, कोविड परीक्षण जैसी योजनाएं बना रहा है यूएस ओपन सबसे ज्यादा कमाई करने वाले खिलाड़ियों की सूची में कोहली इकलौते भारतीय कोरोना का कहर : 124 वर्षों में पहली बार रद्द की गयी बोस्टन मैराथन 17 जून से दोबारा शुरू होगी इंग्लिश प्रीमियर लीग लॉकडाउन के बाद गेंदबाजों के लिये लय हासिल करना मुश्किल होगा - ली कोरोना संकट के बीच जल्दबाजी में क्रिकेट शुरु करना सही नहीं - राहुल द्रविड़