Follow us on
Monday, January 20, 2020
Business

दूरसंचार कंपनियों ने याचिकाओं पर खुली अदालत में सुनवाई की मांग की

January 09, 2020 07:12 AM

नयी दिल्ली (भाषा) - वोडाफोन आइडिया और भारती एयरटेल समेत प्रमुख दूरसंचार कंपनियों ने समायोजित सकल आय (एजीआर) मामले में शीर्ष अदालत के फैसले में कुछ निर्देशों की समीक्षा के लिए दायर अपनी याचिका पर खुली अदालत में सुनवाई की बुधवार को मांग की।

भारती एयरटेल , वोडाफोन आइडिया और अन्य दूरसंचार कंपनियों पर पुरानी वैधानिक देनदारियों के रूप में सरकार का 1.47 लाख करोड़ रुपये का बकाया है। न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष खुली अदालत में सुनवाई की मांग वाली याचिका पेश की गई। उन्होंने कहा कि वह इस पर मुख्य न्यायाधीश एस . ए . बोबडे से बात करेंगे और उसकी के अनुरूप फैसले लेंगे।

शीर्ष न्यायालय ने 24 अक्टूबर को दूरसंचार विभाग द्वारा तैयार की गई एजीआर की परिभाषा को बरकरार रखा था जबकि दूरसंचार कंपनियों की ओर से उठाई गई आपत्तियों को खारिज कर दिया। मामले से जुड़े एक सूत्र ने कहा था कि भारती एयरटेल ने अपनी याचिका में समायोजित सकल आय से जुड़े ब्याज , जुर्माने और जुर्माने पर ब्याज लगाने के निर्देश की समीक्षा की मांग की है।

Have something to say? Post your comment
 
More Business News
डब्ल्यूईएफ की 50वीं वार्षिक बैठक में लगेगा दुनिया के शीर्ष नेताओं, उद्योगपतियों का जमावड़ा
भारत को पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य मुश्किल, मगर मुमकिन - गडकरी
प्रवर्तन निदेशालय ने भूषण पावर एंड स्टील के पूर्व चेयरमैन के खिलाफ आरोप-पत्र दाखिल किया
ईडी ने एयर एशिया के सीईओ, अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को पूछताछ के लिये बुलाया
सरकार वित्तीय क्षेत्र में समस्याओं से निपटने के लिये और कदम उठा सकती है - नीति आयोग
मुद्रास्फीति जनवरी में 8% से ऊपर जा सकती है, आरबीआई के लिए चुनौती- एसबीआई रिपोर्ट
खुदरा मुद्रास्फीति ने दिसंबर में लक्ष्मण रेखा लांघी, 7.35 % के साथ 5 साल के उच्चतम स्तर पर
देश में पिछले 10 साल में माफ हुआ 4.7 लाख करोड़ रुपये का कृषि कर्ज
कच्चा तेल की कीमतों को लेकर घबराने की कोई जरूरत नहीं - प्रधान
व्यापार मोर्चे पर भारत, अमेरिका के बीच हो रही अच्छी प्रगति - श्रृंगला