Follow us on
Monday, January 20, 2020
Chandigarh

राजबाला मलिक दूसरी बार बनीं चंडीगढ़ की मेयर, भाजपा ने जीते तीनों पद

January 11, 2020 08:31 AM

चंडीगढ़ (मयंक मिश्रा) - भाजपा की राजबाला मलिक चंडीगढ़ की नई मेयर चुनी गई हैं। वह चंडीगढ़ की 26 वीं मेयर हैं तथा दूसरी बार वह मेयर बनी हैं। भाजपा ने मेयर के साथ साथ सीनियर डिप्टी और डिप्टी मेयर पदों पर भी जीत हासिल की है। शुक्रवार को हुए चुनाव में राजबाला मलिक ने कांग्रेस की उम्मीदवार गुरबख्श रावत को हरा दिया।

मलिक को 22 और रावत को 5 वोट मिले। वहीं, रविकांत शर्मा सीनियर डिप्टी मेयर चुने गए हैं। शर्मा बने ने कांग्रेस की शीला फूल सिंह को हराकर सीनियर डिप्टी मेयर पद पर कब्जा किया। उन्हें 27 में से 22 वोट पड़े। जबकि सिंह को 5 वोट मिले। जगतार जग्गा डिप्टी मेयर चुने गए हैं। उन्हें भी 22 वोट मिले और कांग्रेस की रविंदर कौर गुरजाल को 5 वोट मिले।

शुक्रवार को सुबह सबसे पहले मेयर के लिए मतदान हुआ। इस मतदान में सांसद किरण खेर ने सबसे पहले वोट डाला। इसके बाद राजबाला मलिक और उसके बाद गुरबख्श रावत ने वोट डाला। राजबाला मलिक के मेयर पद का चुनाव जीतने के बाद सांसद किरण खेर राजबाला मलिक को मेयर की कुर्सी तक लेकर गईं। तीनों पद जीतने के बाद खेर, संजय टंडन सहित भाजपा के अन्य नेता मेयर, सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर के कमरों में गए और उन्हें कुर्सी पर बैठाया। 

मेयर चुने जाने के बाद राजबाला मलिक ने भाजपा के सभी स्थानीय नेताओं और पार्टी कार्यकर्ताओं का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि वह जिस मुकाम पर हैं उसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह जी, कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, सांसद किरण खेर समेत कई लोगों का अहम योगदान है। 

वहीं, मेयर चुनाव के दौरान मोबाइल साथ में रखने को लेकर कांग्रेस पर भाजपा पार्षदों में आपस में बहस हो गई। कांग्रेस पार्षद दल के नेता देवेंद्र सिंह बबला ने कहा कि अगर किसी पार्षद के पास मोबाइल मिलता है तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। सांसद किरण खेर ने कहा कि कांग्रेस के लोग मोबाइल का मामला उठाकर भाजपा के वोट अपनी ओर खींचना चाहते हैं, जबकि वह अपने पार्षदों की संख्या बढ़ाए तो अच्छा है।

चुनाव अधिकारी चिरंजीव सिंह ने कहा कि सभी पार्षद अपना पैन भी मतदान से पहले रखकर जाएं। वहीं, भाजपा पार्षदों ने कहा कि मतदान कराने की बजाय ओपन में ही सभी पार्षदों के हाथ खड़े करवा कर मेयर का चुनाव करवाया जाए। कांग्रेस पार्षद दल के नेता देवेंद्र सिंह बबला ने कहा कि एक्ट में ऐसा प्रावधान नहीं है मतदान गोपनीय तरीके से ही होना चाहिए। भाजपा के सभी पार्षदों ने हाथ खड़े करके राजबाला मलिक का समर्थन किया।

भाजपा ने दिखाई एकजुटता, नहीं हुई क्रास वोटिंग

इस बार चुनाव की खास बात यह रही कि भाजपा के किसी भी पार्षद ने क्रास वोटिंग नहीं की। भाजपा के पास सांसद और अकाली दल के एक पार्षद को मिलाकर कुल 22 मत हैं। ऐसे में इस बार एक भी वोट क्रास नहीं हुआ। सांसद किरण खेर ने चुनाव जीतने वाले तीनों उम्मीदवारों को बधाई देते हुए कहा कि भाजपा को हालाकि क्रॉस वोटिंग का डर सता रहा था। बगावत रोकने के लिए ही भाजपा ने इस बार सबसे ज्यादा पार्षदों द्वारा बताई गई पसंद के आधार पर ही राजबाला मलिक को मेयर पद का उम्मीदवार बनाया था। 

पिछले मेयर चुनाव में भाजपा के करीब सात पार्षदों ने क्रॉस वोटिंग की थी। साल 2015 में क्रॉस वोटिंग का शिकार मेयर चुनाव में हीरा नेगी हुई और हार गई। इसके बाद फिर से 2017 में क्रॉस वोटिंग करते हुए भाजपा के अपने पार्षदों ने हीरा नेगी को वित्त एवं अनुबंध कमेटी के चुनाव में ही हरा दिया था। यही वजह है कि भाजपा ने इस बार जीत से ज्यादा क्रॉस वोटिंग रोकने का प्रयास किया।

भाजपा नेताओं का तर्क थ् कि उनके उम्मीदवार की जीत तय है लेकिन क्रॉस वोटिंग रोक कर वह इस बार एकजुटता का मैसेज हाईकमान को दे। पार्टी प्रभारी प्रभात झा ने स्थानीय नेताओं को स्पष्ट कर दिया था कि इस बार क्रॉस वोटिंग नहीं होनी चाहिए। ऐसा होने पर क्रॉस वोटिंग करने वाले पार्षदों की पहचान करके उन पर कार्रवाई की जाएगी। भाजपा अध्यक्ष संजय टंडन ने सभी पार्षदों को कहा था कि अगर क्रास वोटिंग होगी तो संबंधित पार्षद पर कार्रवाई होगी।

पेशे से वकील हैं राजबाला मलिक

राजबाला मलिक पेशे से वकील है उनके पति भी पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट में सीनियर वकील हैं। राजबाला मलिक साल 2012 में भी मेयर रह चुकी हैं, लेकिन उस समय वह कांग्रेस पार्टी में थी साल 2014 में वह कांग्रेसी छोड़कर भाजपा में आई थी। राजबाला मलिक दूसरी बार नगर निगम का पार्षद का चुनाव जीत कर आई और दूसरी बार भी वह मेयर बन गईं। वह एक मात्र ऐसी मेयर हैं जो कांग्रेस और भाजपा दोनों की तरफ से इस कुर्सी पर बैठीं।  वह मूल रूप से हरियाणा की रहने वाली है जो कि जाट समुदाय से संबंध रखती है राजबाला मलिक को भाजपा से उम्मीदवार बनाने के लिए हरियाणा की जाट लॉबी ने काफी प्रयास किया था।

Have something to say? Post your comment
 
More Chandigarh News
चंडीगढ़ में शुरू हुए बिजली के स्मार्ट मीटर लगना, प्रीपेड सुविधा भी मिली
दस माह बाद दोबारा शुरू हुई नाइट फूड स्ट्रीट, रात में ही नहीं 24 घंटे खुलेगी
सूद बने चंडीगढ़ भाजपा के नए प्रदेशाध्यक्ष
क्लाइमेट एक्शन के लिए चंडीगढ़ में स्कूल स्टूडेंट्स की क्लाइमेटगिरी
अरुण सूद होंगे भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष, आज होगी घोषणा
नेशनल गर्ल चाइल्ड डे से पहले सेंट स्टीफंस स्कूल में हुआ पिंक टर्बन कैंपेन
सीएचबी ने दूसरी बार कम किए फ्लैटों के रेट, डिमांड सर्वे एक महीने के लिए बढ़ाया
सीटीयू के बस पास भी हुए महंगे, आज से देना होगा बढ़ा हुआ किराया
रद हो सकती है सीएचबी की नई हाउसिंग स्कीम, कल बोर्ड की बैठक में लिया जाएगा फैसला
चंडीगढ़ को आज मिलेगा 26 वां मेयर, राजबाला मलिक की जीत तय