Follow us on
Saturday, January 18, 2020
BREAKING NEWS
कट्टरपंथी सोच से मुक्ति दिलाने वाली टिप्पणी पर औवेसी ने प्रमुख रक्षा अध्यक्ष पर निशाना साधाधवन शतक से चूके, कोहली, राहुल ने भारत को मजबूत स्कोर तक पहुंचायाप्रवर्तन निदेशालय ने भूषण पावर एंड स्टील के पूर्व चेयरमैन के खिलाफ आरोप-पत्र दाखिल कियाप्रियंका चोपड़ा छाईं हॉलीवुड के फ़लक़ पर, एवेंजर्स के डायरेक्टर ने किया साइननिर्भया मामला : अदालत ने दोषियों को एक फरवरी की सुबह छह बजे फांसी देने का नया मृत्यु वारंट जारी कियाएरियन रॉकेट से इसरो के जीसैट 30 उपग्रह का सफल प्रक्षेपणन्यायालय को सरकारी तथा सार्वजनिक वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों में तब्दील करने की याचिका पर नोटिसदिल्ली चुनाव के लिए भाजपा ने 57 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की
Business

व्यापार मोर्चे पर भारत, अमेरिका के बीच हो रही अच्छी प्रगति - श्रृंगला

January 11, 2020 08:38 AM

वाशिंगटन (भाषा) - भारत और अमेरिका के बीच व्यापार के मोर्चे पर "काफी अच्छी प्रगति" हो रही है। दोनों देश एक-दूसरे के उत्पादों को मुक्त बाजार पहुंच या तरजीह देने के लिए एक दीर्घकालिक व्यवस्था बनाने पर गौर कर रहे हैं। अमेरिका में भारत के निवर्तमान राजदूत हर्ष वर्धन श्रृंगला ने यह बात कही।

उन्होंने कहा कि भारत और अमेरिका व्यापार में एक दूसरे की जरूरतों को पूरा कर सकते हैं। श्रृंगला इस माह के अंत में भारत के विदेश सचिव का कार्यभार संभालने वाले हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच न्यूयॉर्क में सितंबर में हुई बैठक के दौरान दोनों देश सीमित व्यापार समझौते की घोषणा करने में नाकाम रहे थे।

भारत निष्पक्ष और उचित व्यापार समझौते के पक्ष में है। वहीं अमेरिका व्यापार घाटा कम करने को लेकर जोर दे रहा है। श्रृंगला ने कहा, "हमें खुशी है कि भारत और अमेरिका के बीच व्यापार समझौते पर अच्छी प्रगति हो रही है। हालांकि, वास्तव में हम उस दीर्घकालिक व्यवस्था पर विचार करे रहे हैं, जिसमें दोनों देशों के उत्पादों को एक-दूसरे के देश में मुक्त बाजार पहुंच और तरजीह मिल सके।"

उन्होंने जोर दिया कि दोनों देश व्यापार में एक दूसरे के पूरक बन सकते हैं। उन्होंने कहा कि वे हमारी कंपनियों के लिये अपना दरवाजा खोल सकते हैं और जिससे हमारा व्यापार मौजूदा समय में 160 अरब से बढ़कर दोगुना हो जाएगा।

श्रृंगला ने कहा, "यह एक रणनीतिक साझेदारी है, जिसे हम अगले चार-पांच साल के चुनावी नजरिये से नहीं देख रहे हैं बल्कि यह एक दीर्घकालिक संबंध है, जिसे हमें दोनों देशों के आपसी लाभ के नजरिये से देखना चाहिए।" यूएस चैंबर्स ऑफ कॉमर्स और अमेरिका भारत बिजनेस काउंसिल ने श्रृंगला के सम्मान में विदाई भोज का आयोजन किया। श्रृंगला ने कहा, "हमें एक नीतिगत ढांचे और सुविधा के तरीकों पर गौर करना चाहिए जो कि आर्थिक मोर्चे पर दोनों देशों की साझेदारी और संबंधों को सुरक्षित रखेगा। यह दीर्घकालिक रूप से मजबूत होनी चाहिए।"

Have something to say? Post your comment
 
More Business News
प्रवर्तन निदेशालय ने भूषण पावर एंड स्टील के पूर्व चेयरमैन के खिलाफ आरोप-पत्र दाखिल किया
ईडी ने एयर एशिया के सीईओ, अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को पूछताछ के लिये बुलाया
सरकार वित्तीय क्षेत्र में समस्याओं से निपटने के लिये और कदम उठा सकती है - नीति आयोग
मुद्रास्फीति जनवरी में 8% से ऊपर जा सकती है, आरबीआई के लिए चुनौती- एसबीआई रिपोर्ट
खुदरा मुद्रास्फीति ने दिसंबर में लक्ष्मण रेखा लांघी, 7.35 % के साथ 5 साल के उच्चतम स्तर पर
देश में पिछले 10 साल में माफ हुआ 4.7 लाख करोड़ रुपये का कृषि कर्ज
कच्चा तेल की कीमतों को लेकर घबराने की कोई जरूरत नहीं - प्रधान
टाटा ग्रुप-मिस्त्री विवादः एनसीएलएटी के फैसले के बाद सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज
दूरसंचार कंपनियों ने याचिकाओं पर खुली अदालत में सुनवाई की मांग की
आरकॉम को 104 करोड़ रुपये लौटने के टीडीसैट के आदेश को चुनौती देने वाली केंद्र की याचिका खारिज