Follow us on
Saturday, August 15, 2020
Haryana

प्रदेश में नशे पर पूर्ण रूप से अंकुश लगाने के लिए शीघ्र ही हरियाणा नार्कोटिक्स ब्यूरो का गठन - विज

January 14, 2020 10:27 AM

चंडीगढ़ - हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि प्रदेश में नशे व उसके अवैध धंधे पर पूर्ण रूप से अंकुश लगाने के लिए शीघ्र ही ‘‘हरियाणा नार्कोटिक्स ब्यूरो’’ का गठन करने का भी निर्णय लिया है। गृहमंत्री ने कहा कि यह ब्यूरो राज्य में नशे के कारोबार पर पूरी तरह से नियंत्रण करने के लिए विशेष व्यूह रचना के तहत कार्य करेगा।

इससे राज्य में नशे के व्यापार में संलिप्त लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी तथा नशेडिय़ों को नशे से दूर रहने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि उन्हें गृह विभाग मिलने के बाद से ही नशा व नशे के कारोबार को प्रदेश से उखाड़ फैकने के लिए ध्यान दिया जा रहा हैं। जब तक ब्यूरों के गठन की प्रक्रिया पूरी नही होती तब तक एसटीएफ के एक समुह को इस कार्य में लगाया जाएगा, जिसका नेतृत्व एक आईपीएस अधिकारी करेंगे।

विज ने कहा कि मधुबन प्रयोगशाला में फोरंसिक जांच के मामलों में हैंडराइटिंग परीक्षण के अलावा अन्य कोई भी जांच लम्बित नही है, जिसके लिए अधिकारी उचित कार्रवाई कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि गत कांग्रेस सरकारों के दौरान लोगों को एफआईआर दर्ज करवाने के लिए भी डीजीपी कार्यालय के सामने आत्महत्या के लिए मजबूर होना पड़ता था परन्तु अब सभी शिकायतकर्ताओं की प्रत्येक शिकायत दर्ज की जाती है ताकि उन्हें पूरा न्याय मिल सके।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
कल्याणकारी योजनाओं को जमीनी स्तर तक पहुँचाने के लिए ग्राम सभाओं की बैठक छ: महीने में एक बार अवश्य की जानी चाहिए राष्ट्रीय शिक्षा नीति 21वीं सदी के नए भारत की नींव तैयार करने वाली - कंवर पाल 11 से कृषि भूमि की रजिस्ट्री के लिए ई-अपॉइंटमेंट लेने की प्रक्रिया शुरू करने का फैसला उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने दिए कपास फसल की स्पेशल गिरदावरी के आदेश निजी क्षेत्र में अगले 6 माह में 50 हजार युवाओं को रोजगार दिलाने का लक्ष्य - दुष्यंत चौटाला 8 अगस्त तक मौसम परिवर्तनशील परंतु 9 से 11 अगस्त तक हो सकती है बारिश कोरोना से ठीक हुए लोग इस महामारी से लडऩे को आमजन को प्रेरित करने के लिए आगे आएं - मुख्यमंत्री देश के करोड़ों लोगों के साथ-साथ विदेशों में रह रहे भारतीयों के लिए भी एक ऐतिहासिक व भावनात्मक दिन - मुख्यमंत्री खट्टर ने परिवार पहचान पत्र शुरू किया जिला परिषद ग्राम स्वराज योजना की स्कीमों को सफल बनाने के लिए इसे अभियान का रूप दें – मुख्यमंत्री