Follow us on
Saturday, August 15, 2020
World

ईरान ने माना अमेरिका के साथ तनाव कम करना ही एकमात्र समाधान

January 14, 2020 10:37 AM

तेहरान - ईरान ने अमेरिका के साथ जारी तनाव को कम करने का संकेत दिया है। गौरतलब है कि पिछले 10 दिनों में दोनों ओर से मिसाइलें दागी गईं और इस दौरान ईरान ने यूक्रेन का एक यात्री विमान दुर्घटनावश गिरा दिया था।

इस घटना में 176 यात्री मारे गए थे, जिसके विरोध में ईरान की राजधानी में रविवार को एक जुलूस निकाला गया जिसने हिंसक रूप ले लिया और पुलिस ने इस दौरान वहां मौजूद ब्रिटिश राजदूत को भी अस्थायी तौर पर गिरफ्तार कर लिया था।

इन सबके बीच अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने रविवार को ट्वीट किया, ‘‘ ये ईरान के नेताओं के लिए है... अपने यहां के प्रदर्शनकारियों की जान मत लो।’’

अमेरिका के रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने हालांकि कहा कि ट्रम्प ईरान के साथ ‘‘ बिना किसी शर्त के नए सिरे से बातचीत करने के इच्छुक हैं।’’ हालांकि तेहरान ने वाशिंगटन द्वारा उस पर लगाए प्रतिबंध हटाने तक बातचीत से लगातार इनकार किया है।

तेहरान ने कहा कि वाशिंगटन द्वारा तीन जनवरी को उसके शीर्ष जनवरी कासिम सुलेमानी की हत्या करने के बावजूद वह उसके साथ तनाव कम करने के पक्ष में है। ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी और कतर के अमीर के बीच हुई बैठक के बाद दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हुए कि क्षेत्रीय संकट खत्म करने के लिए तनाव कम करना ही ‘‘ एकमात्र समाधान ’’ है।

अमेरिका का क्षेत्र में सबसे बड़ा सैन्य अड्डा कतर में स्थित है और साथ ही उसके ईरान के साथ भी अच्छे संबंध हैं, जिसके साथ वह दुनिया का सबसे बड़ा गैस क्षेत्र साझा करता है। क़तर के अमीर शेख तमीम बिन हमद अल थानी ने कहा, ‘‘ हम सहमत हुए हैं... कि इस संकट का एकमात्र समाधान सभी पक्षों द्वारा तनाव कम करना और संवाद कायम करना है।’’

वहीं रूहानी ने कहा, ‘‘ पूरे क्षेत्र की सुरक्षा के लिए हमने और विचार-विमर्श करने और सहयोग स्थापित करने का निर्णय लिया है।’’

Have something to say? Post your comment
 
More World News
नेपाल में भूस्खलन से 11 लोगों की मौत, 27 लापता रूस के साथ कोरोना वैक्सीन पर बातचीत कर रहा है डब्ल्यूएचओ संघर्ष बढ़ाने वाले कारक गलत सूचना फैलाकर अनिश्चितता भरे हालात का फायदा उठा रहे हैं - भारत रूस ने किया कोविड-19 टीके का पंजीकरण, पुतिन की बेटी को लगाया गया टीका पाकिस्तान में बम विस्फोट में पांच व्यक्तियों की मौत, 10 अन्य घायल नहीं थमा जनाक्रोश, लेबनान के प्रधानमंत्री ने पूरी कैबिनेट के साथ दिया इस्तीफा महिंदा राजपक्षे ने श्रीलंका के प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली भारतीय-अमेरिकियों ने ओसीआई कार्ड यात्रा लाभ बहाल करने का स्वागत किया श्रीलंका संसदीय चुनाव में महिंदा राजपक्षे के नेतृत्व में एसएलपीपी ने शानदार जीत दर्ज की दुनिया के कई देश लेबनान की मदद के लिए आगे आए