Follow us on
Monday, February 17, 2020
Himachal

राज्यपाल ने राहत सामग्री से भरे वाहनों को रवाना किया

February 11, 2020 10:30 AM

राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय, जो रेडक्रास सोसायटी के अध्यक्ष भी हैं, ने आज यहां राजभवन से आपदा प्रभावित परिवारों के लिए राहत सामग्री के सात वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। ये वाहन राज्य रेडक्राॅस द्वारा जिला रेडक्राॅस शाखाओं को भेजे गए हैं। इस अवसर पर राज्य रेडक्राॅस अस्पताल कल्याण शाखा की अध्यक्षा डाॅ. साधना ठाकुर भी उपस्थित थीं।

राज्यपाल ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय रेडक्राॅस संघ की सहायता के लिए राज्य के 12 जिलों में स्थित जिला रेडक्रास शाखाओं द्वारा आपदा राहत सामग्री प्रदान की जा रही है। इस सहायता सामग्री में प्रभावित परिवारों के लिए तिरपाल, बर्तन आदि शामिल हैं, जिस पर 23 लाख रुपये खर्च किए गए हैं।

उन्होंने कहा कि विभिन्न शाखाओं के माध्यम से रेडक्राॅस राज्य में सराहनीय कार्य कर रहा है। गरीब लोगांे को मुफ्त दवाइयां या चिकित्सीय देखभाल प्रदान करने के कार्य को या प्राकृतिक आपदा से प्रभावित लोगों की सहायता, रेडक्राॅस कठिन परिस्थितियों में हमेशा सहायक सिद्ध हुआ है।

डाॅ. साधना ठाकुर ने कहा कि रेडक्राॅस जिला स्तर पर भी प्रभावित लोगों की सेवा कर रही है और आपदा से पहले ही जिलों को राहत सामग्री पहुंचा दी जाती है, ताकि आपदा से निपटने के इंतजाम तुरंत किए जा सकें।

राज्यपाल के सचिव राकेश कंवर, जिला प्रशासन के अधिकारी, राज्य रेडक्राॅस सोसायटी के अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment
 
More Himachal News
सांस्कृतिक आदान-प्रदान का बेहतर मंच है क्राफ्ट मेला - दत्तात्रेय
राज्यपाल ने 8वें माउंटेन गोट शीतकालीन अभियान को रवाना किया
शीतकालीन प्रवास के प्रथम चरण में तीन विधान सभा क्षेत्रों को 165 करोड़ रुपये की सौगात - मुख्यमंत्री
विज्ञानी एवं चिकित्सक अपना शोध स्वास्थ्य क्षेत्र में सुधार के लिए समर्पित करें - राज्यपाल
बीड़-बिलिंग को मुख्य साहसिक खेल गंतव्य के लिए विकसित किया जाएगा - मुख्यमंत्री
राज्यपाल ने किया 58 व्यक्तियों को अलंकृत
उद्योग और वन मंत्री ने वित्त आयोग व केंद्र का आभार व्यक्त किया
मुख्यमंत्री ने अनुदान बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार व वित्त आयोग का आभार जताया
मुख्यमंत्री ने चंडीगढ़ विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में भाग लिया
ग्लोबल इन्वेस्टर्ज मीट के उपरांत 15 हजार करोड़ के नए एमओयू प्राप्त