Follow us on
Tuesday, February 18, 2020
India

कन्हैया के काफिले पर अंडा, मोबिल फेंका

February 11, 2020 10:40 AM

जमुई/नवादा (भाषा) - सीएए—एनपीआर—एनआरसी के विरोध में राज्यव्यापी यात्रा कर रहे भाकपा नेता एवं जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार के काफिले पर सोमवार को जमुई जिले में अज्ञात लोगों ने अंडा और मोबिल फेंका।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि सीएए—एनपीआर—एनआरसी के विरोध में राज्यव्यापी यात्रा के क्रम में नवादा जिला जाने के दौरान कन्हैया के काफिले पर सोमवार को जमुई जिले के मिहिसौरी चौक के समीप अज्ञात लोगों द्वारा अंडा और मोबिल फेंका गया। हालांकि इस हमले में किसी के जख्मी होने की सूचना नहीं है।

जमुई थानाध्यक्ष सुभाष कुमार सिंह ने बताया कि इस मामले में औपचारिक तौर पर कोई शिकायत नहीं किए जाने पर प्राथमिकी दर्ज नहीं की गयी है। जमुई में एक सभा को संबोधित करने के बाद कन्हैया रविवार रात्रि स्थानीय सर्किट हाउस में ठहरे थे।

कन्हैया के काफिले पर मधेपुरा, सुपौल, सारण जिलों में भी पूर्व में अज्ञात उपद्रवियों द्वारा पथराव किया गया था। कन्हैया ने अपनी ‘‘जन गण मन यात्रा’’ की शुरुआत 30 जनवरी को की थी।

नवादा में सोमवार को आईटीआई मैदान में एक सभा को संबोधित करते हुए कन्हैया ने नरेंद्र मोदी सरकार पर सीएए, एनपीआर, एनआरसी के जरिए धर्म की राजनीति करने का आरोप लगाया। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार द्वारा हिंदुओं और मुसलमानों को गुमराह करके देश को तोड़ने की कोशिश की जा रही है।

बाद में कन्हैया बुंदेलबाग में प्रदर्शनकारियों से मिलने गए जहां लोग सीएए के खिलाफ पिछले करीब एक महीने से धरने पर बैठे हैं। कन्हैया की राज्यव्यापी यह यात्रा 'नागरिकता बचाओ, देश बचाव रैली के साथ 29 फरवरी को पटना में संपन्न होगी।

Have something to say? Post your comment
 
More India News
वुहान से लौटे 406 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं होने की पुष्टि हुई
हम सीएए और अनुच्छेद 370 से जुड़े अपने फैसलों पर कायम हैं और रहेंगे - प्रधानमंत्री
इस साल राज्यसभा में विपक्षी ताकत होगी कम
बैजल ने दिलायी केजरीवाल मंत्रिमंडल को पद और गोपनीयता की शपथ
भारत सभी धर्मों के शांतिपूर्ण सह अस्तित्व के लिए जाना जाता है - नायडू
शरारती तत्वों से निपटते वक्त दिल्ली पुलिस को संयम बरतना चाहिए - शाह
शाह से मिलने को तैयार शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी, कहा- बातचीत के लिये बुलाना सरकार का दायित्व
नीतिगत दर में कटौती का असर धीरे-धीरे सुधर रहा, ऋण उठाव ने गति पकड़ी - दास
केजरीवाल के शपथ ग्रहण में मंच साझा करेंगे ‘‘दिल्ली निर्माण’’ के लिए जिम्मेदार 50 लोग
मौजूदा सामाजिक समस्याओं पर ध्यान केंद्रित करें वैज्ञानिक - मोदी