Follow us on
Monday, February 17, 2020
Politics

भाजपा नेता की बुर्के पर प्रतिबंध की मांग

February 11, 2020 10:41 AM

लखनऊ (भाषा) - भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने रघुराज सिंह को अनुशासनहीनता के आरोप में सोमवार को कारण बताओ नोटिस जारी किया। उल्लेखनीय है कि रघुराज सिंह ने कहा था कि देश में बुर्के पर प्रतिबंध लगना चाहिए।

भाजपा ने देर शाम जारी एक बयान में कहा कि संगठन की नीतियों के विरूद्ध क्रियाकलापों व अमर्यादित बयानबाजी के लिए प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के निर्देश पर पार्टी ने रघुराज सिंह को अनुशासनहीनता के आरोप में नोटिस जारी करते हुए उनसे एक सप्ताह के भीतर जवाब देने को कहा है कि क्यों न उनके विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया जाए।

स्वतंत्र देव सिंह ने कड़ा रूख अपनाते हुए कहा कि किसी भी बहन या बेटी या महिला चाहे व हिन्दू हो या मुस्लिम या किसी भी पंथ मजहब जाति या समुदाय से जुड़ी हो उनकी मर्यादा के प्रतिकूल कोई भी टिप्पणी न स्वीकार है और न बर्दाश्त की जा सकती है। महिलाओं और बेटियों का सम्मान पार्टी की रीति-नीति है और उसका पालन करना हर कार्यकर्ता का दायित्व है। इससे इतर व्यवहार करने की अनुमति किसी को भी नहीं है।

रघुराज सिंह ने सोमवार को अलीगढ़ में कहा कि देश में बुर्के पर प्रतिबंध लगना चाहिए जैसा अन्य कई देशों में है। सिंह हाल ही में अपने एक बयान को लेकर सुर्खियों में आये थे, जब उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ नारेबाजी करने वाले एएमयू के छात्रों को कथित तौर पर जिन्दा दफन करने की धमकी दी थी।

रघुराज सिंह ने कहा, 'मेरा स्पष्ट मानना है कि बुर्का श्रीलंका, चीन, अमेरिका और कनाडा में इस्तेमाल नहीं होता। इसे हमारे देश में भी प्रतिबंधित होना चाहिए ताकि आतंकवादी इसका फायदा ना उठा पायें। शाहीनबाग में लोग बुर्का पहनकर बैठे हैं। बुर्का आतंकवादियों, चोरों और असामाजिक तत्वों को छिपने में मदद करता है, इसलिए इस पर प्रतिबंध लगना चाहिए।'

सिंह ने बुर्के की उत्पत्ति समझाते हुए कहा, ‘‘यह रामायण की शूर्पणखा से निकला। जब उसके नाक कान काटे गये तो वह अरब भाग गयी थी जहां छिपने के लिए रेगिस्तान था। चूंकि उसके नाक कान कट गये थे इसलिए उसने बुर्के से अपना चेहरा छिपाया। बुर्का मानव के लिए आवश्यक नहीं है।’’

भाजपा के जिला प्रवक्ता निशांत शर्मा ने बताया कि सिंह को राज्य मंत्री का दर्जा प्राप्त है ।

Have something to say? Post your comment