Follow us on
Wednesday, September 30, 2020
Chandigarh

चंडीगढ़ में अब मोहाली और पंचकूला से 1000 सीएनजी आटो कर सकेंगे प्रवेश

February 12, 2020 07:40 AM

चंडीगढ़ (मयंक मिश्रा) - शहर में अब मोहाली और पंचकूला से 1000 सीएनजी आटोरिक्शा प्रवेश कर पाएंगे। इससे साथ ही चंडीगढ़ के भी 1000 सीएनजी आटो मोहाली और पंचकूला में जा पाएंगे। अभी तक यह संख्या 500 थी। पंचकूला और मोहाली से चंडीगढ़ में आने वाले ऑटो रिक्शा के प्रवेश और एंट्री टैक्स को लेकर चल रहे विवाद के बाद ऑटो चालकों ने एकजुटता दिखाते हुए चंडीगढ़ प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल था। इसी विवाद को सुलझाने के लिए मंगलवार को यूटी के प्रशासक के सलाहकार मनोज कुमार परीडा की अध्यक्षता में बैठक हुई जिसमें पंजाब और हरियाणा के ट्रांसपोर्ट अधिकारी भी शामिल हुए।

बैठक में तय हुआ कि चंडीगढ़ में पंजाब और हरियाणा से आने वाले 500 अतिरिक्त सीएनजी आटो की मंजूरी दी जाए। इसके बाद तय हुआ कि अब 500 की जगह 1000 आटो रेसीप्रोकल आधार पर ट्राईसिटी में घूम सकेंगे। बैठक में चंडीगढ़ प्रशासन ने हरियाणा सरकार को पंचकूला में ज्यादा सीएनजी पंप खोलने को कहा ताकि चंडीगढ़ में सीएनजी पंपों पर दबाव कम हो सके। परीडा ने कहा कि ग्रीन वाहनों को बढ़ावा दिया जाएगा। यह भी तय हुआ कि आटो का डाटा पुलिस चेकिंग के लिए चंडीगढ़, मोहाली और पंचकूला आपस में साझा करेंगे।

बैठक में यह भी तय हुआ कि चंडीगढ़ की स्कूल बसों को मोहाली सिटी सीमा की जगह पूरे मोहाली जिला में जाने की परमिट दी जाए। मोहाली जिला में डेराबस्सी, जीरकपुर, लालड़ू भी आते हैं। बैठक में तय हुआ कि ट्राईसिटी बसों के लिए स्टेट रोड टैक्स की छूट दी जाए। अभी चंडीगढ़ दूसरे राज्यों के ट्रांसपोर्ट वाहनों से किसी तरह का टैक्स वसूल नहीं कर रहा था। लेकिन, चंडीगढ़ हरियाणा को टैक्स दे रहा था। बैठक में तय हुआ कि चंडीगढ़ को कनेक्ट करने वाली सड़कों पर सामान स्पीड लिमिट व ओला तथा उबर टैक्सी के मुद्दों के समाधान के लिए डायरेक्टर स्तर की कमेटी गठित करने का भी फैसला लिया गया।

नए आटो की रजिस्ट्रेशन पर लगी है रोक

यूटी प्रशासन ने हाल ही में नए ऑटो की रजिस्ट्रेशन ही बंद कर दी है। अब डीजल, पेट्रोल, एलपीजी ही नहीं सीएनजी ऑटो का भी रजिस्ट्रेशन भी नहीं हो रही है। सिर्फ इलेक्ट्रिक बैटरी ऑपरेटिड ऑटो का रजिस्ट्रेशन ही होगा। यह रोक छह हजार ऑटो रजिस्ट्रेशन के बाद लगाई गई है। प्रशासन ने अब नए ऑटो रजिस्ट्रेशन पर रोक लगाने के साथ अवैध ऑटो पर रोक लगाने की तैयारी भी कर ली है।

स्टेट ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी ने ऑटो रिक्शा की कई लिस्ट तैयार की हैं। मोबाइल एप भी डेवलप हो रही है, जिससे यह लिस्ट देखी जा सकेंगी। ऑटो रिक्शा चालक अपना नाम लिस्ट में देख सकेंगे। जो ऑटो अवैध होगा वह चंडीगढ़ में नहीं चल पाएगा। अवैध ऑटो की पहचान करने के लिए रेडियो फ्रिक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन(आरएफआइडी) चिप लगाई जाएगी। इससे उन ऑटो की तुरंत पहचान हो जाएगी जो नियमों का उल्लंघन शहर में दौड़ रहे हैं। यह ट्रैफिक बढ़ने का कारण बन रहे हैं।

आटोरिक्शा चालकों ने किया था चक्का जाम

आटोरिक्शा चालकों ने चक्का जाम किया था। उनका कहना था कि चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा मोहाली और पंचकूला से आने वाले ऑटो के साथ धक्का करते हुए, उनको एंट्री प्वाइंट पर परमिट और एंट्री टैक्स में उलझा कर रोक दिया जाता है। उनके पास कागजात पूरे होते हैं पर उन्हें शहर में प्रवेश ही नहीं करने दिया जाता। उनकी दिक्कत ये है कि ऑटो में सीएनजी भरवाने के लिए चंडीगढ़ ही आना पड़ता है। चंडीगढ़ में एंट्री करने पर हर ऑटो वालों को चंडीगढ़ ट्रांसपोर्ट विभाग टैक्स देने के लिए कहता है।

Have something to say? Post your comment
 
More Chandigarh News