Follow us on
Saturday, August 15, 2020
Punjab

शिरोमणि अकाली दल में लौटे अजनाला

February 14, 2020 07:14 AM

चंडीगढ़ - शिरोमणि अकाली दल से अलग हुए शिरोमणि अकाली दल (टकसाली) को झटका देते हुए इसके नेता रतन सिंह अजनाला और उनके बेटे अमरपाल सिंह बोनी बृहस्पतिवार को फिर से शिरोमणि अकाली दल में शमिल हो गए। शिरोमणि अकाली दल (टकसाली) के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं पूर्व सांसद रतन सिंह अजनाला और दो बार विधायक रह चुके बोनी ने शिरोमणि अकाली दल में लौटने से पहले शिरोमणि अकाली दल अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल से मुलाकात की।

सुखबीर ने बाद में संवाददाताओं से कहा कि वह इस बात से खुश हैं कि अजनाला परिवार की फिर से पार्टी में वापसी हो गई है। बाद में बोनी ने जिले के राजासांसी में आयोजित शिरोमणि अकाली दल की रैली में भी हिस्सा लिया। बोनी शिरोमणि अकाली दल के उम्मीदवार के तौर पर दो बार विधानसभा चुनाव जीत चुके हैं।

उल्लेखनीय है कि अजनाला और बोनी को वरिष्ठ नेताओं रंजीत सिंह ब्रह्मपुरा और सेवा सिंह सेखवां के साथ ‘पार्टी विरोधी गतिविधियों’ के आरोप में नवंबर 2018 में शिरोमणि अकाली दल से निष्कासित कर दिया गया था। बाद में इन नेताओं ने सुखबीर का मुकाबला करने के लिए शिरोमणि अकाली दल (टकसाली) का गठन किया था और आरोप लगाया था कि शिरोमणि अकाली दल पंथक एजेंडे से भटक गया है जिससे पार्टी को अपूरणीय क्षति हुई है।

Have something to say? Post your comment
 
More Punjab News
मुफ़्त स्मार्टफ़ोन देने का वादा करने वाले ऑनलाइन धोखेबाज़ों के झाँसे में न आएं - विजय इंदर सिंगला पंजाब सरकार द्वारा हरे चारे के आचार की गांठे बनाने वाली मशीन पर 40 प्रतिशत सब्सिडी दी जायेगी - तृप्त बाजवा ऐजूकेशन हब्ब के तौर पर विकसित होगा मोहाली कोविड-19 टेस्टिंग के लिए मोहाली की पंजाब बायोटैक्रोलॉजी इनक्युबेटर वायरल डायग्नोस्टिक लैबोरेट्री का उद्घाटन देश की राजधानी में सही कोविड प्रबंधों के लिए आम आदमी पार्टी द्वारा अपनी पीठ थपथपाना हास्यप्रद लगता है - सिद्धू पंजाब सरकार अन्य राज्यों के मुकाबले कोरोना का सार्वजनिक फैलाव रोकने में कहीं बेहतर - बलबीर सिद्धू पंजाब में निवेश को बढ़ावा देने के लिए बड़ी पहल; वन विभाग की मंज़ूरियां मिलेंगी ऑनलाईन स्वास्थ्य विभाग में 2984 पदों के लिए 31 अगस्त तक आवेदन लिये जाएंगे - बलबीर सिंह सिद्धू पंजाब कैबिनेट द्वारा छह और विभागों के लिए चार वर्षीय रणनीतिक कार्य योजना को हरी झंडी नकली शराब के मामले में कोई भी राजनीतिज्ञ या सरकारी कर्मचारी बख्शा नहीं जायेगा-कैप्टन