Follow us on
Sunday, March 29, 2020
BREAKING NEWS
Haryana

7 जिलों में 31 मार्च तक लॉकडाउन

March 23, 2020 07:48 AM

चंडीगढ़ - हरियाणा सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए पहले चरण में सात जिलों को लॉकडाउन कर दिया है। सामाजिक दूरी के मद्देनजर लॉकडाउन को पूरे प्रदेश में भी लागू हो सकता है। फिलहाल गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत, पानीपत, झज्जर, रोहतक व पंचकूला जिलों को रविवार रात नौ बजे से 31 मार्च तक लॉकडाउन करने के आदेश जारी किए हैं।

गुरुग्राम जिले के लिए मत्स्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव वीरेन्द्र सिंह कुंडू, सोनीपत जिले के लिए खान एवं भू-विज्ञान विभाग के प्रधान सचिव आनंद मोहन शरण, पानीपत के लिए श्रम विभाग के प्रधान सचिव विनीत गर्ग, पंचकूला के लिए निगरानी एवं समन्वय विभाग की प्रधान सचिव दीप्ती उमाशंकर, रोहतक व झज्जर के लिए रोहतक के मंडलायुक्त डी सुरेश और फरीदाबाद के लिए फरीदाबाद के आयुक्त संजय जून को लगाया गया है। मुख्य सचिव द्वारा जारी आदेशों में बताया गया कि इन अधिकारियों की भूमिका व ड्यूटी के संबंध में दिशा-निर्देश स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा अलग से जारी किये जाएंगे।

हरियाणा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि लॉकडाउन के संबंध में आदेश जारी कर दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कोविड-19 को महामारी घोषित किया गया है और हरियाणा में दो अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे यानी आईजीआई हवाई अड्डा, नई दिल्ली और चंडीगढ़ अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा के आसपास के क्षेत्र में है  तथा हरियाणा में निगरानी के तहत 6600 से अधिक व्यक्ति हैं।  इसलिए, कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए कड़े सामाजिक भेद और अलगाव के उपायों को अपनाना अत्यावश्यक है, जो दुनिया भर के कई देशों में कहर मचा रहा है।  इनमें से अधिकांश रिटर्न हरियाणा के राजस्व जिलों जैसे गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत, पानीपत, झज्जर, रोहतक, पंचकूला आदि से हैं।

उन्होंने बताया कि इन क्षेत्रों में रविवार यानि आज से 22 मार्च 2020 से 31 मार्च, 2020 तक, विभिन्न प्रतिबंधों को निर्धारित करते हुए टैक्सी, ऑटो-रिक्शा के संचालन सहित किसी भी सार्वजनिक परिवहन सेवाओं की अनुमति नहीं होगी जबकि अपवाद के तौर पर अस्पतालों, हवाई अड्डों, रेलवे स्टेशन से और सभी प्रकार के परिवहन शामिल होंगे।  इसी प्रकार सभी दुकानें, वाणिज्यिक प्रतिष्ठान, कार्यालय और कारखाने, कार्यशालाएं, गोदाम आदि के संचालन को बंद कर देंगे।

प्रवक्ता ने बताया कि सभी विदेशी रिटर्न व्यक्तियों को निर्देशित किया गया हैं कि वे स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा तय की गई अवधि के तहत घर पर ही संगरोध अर्थात क्वारनटाईन में रहें। लोगों को घर पर रहने और केवल बुनियादी चीजों के लिए बाहर आने की आवश्यकता है तथा पहले से जारी सोशल डिस्टेंसिंग दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करना होगा।  1. हालांकि, आवश्यक सेवाएं प्रदान करने वाले विभिन्न प्रतिष्ठानों को इन प्रतिबंधों से बाहर रखा जाएगा।  मुख्य सचिव कार्यालय के निर्देशों के अनुसार सरकारी कार्यालय  व प्रतिष्ठान।  रेल (रेल सेवाएं पहले ही 31 मार्च 2020 तक निलंबित) और हवाई हैं तथा  स्थानीय प्रशासन इन परिसरों में प्रवेश को विनियमित करेगा।

उन्होंने बताया कि इन जिलों में विभिन्न प्रतिबंधों के अलावा, पूरे राज्य में सभी अंतरराज्यीय बस सेवाएं निलंबित रहेंगी।  सभी उपायुक्त कोविड-19 प्रकोप के लिए अपने अपने प्रत्येक जिले में नियंत्रण कक्ष स्थापित करेंगे। यदि कोई संदेह है कि कोई सेवा आवश्यक है या नहीं, तो कलेक्टर और जिला मजिस्ट्रेट निर्णय लेने के लिए सक्षम प्राधिकारी होंगे।  यदि कोई आदेश पहले जारी किया गया है जो इस आदेश के विपरीत है तो ये आदेश लागू होंगे।

प्रवक्ता ने बताया कि पुलिस कमिश्नर, कलेक्टर, डीएम, एडीएम, डीसीपी, एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, बीडीपीओ, नगर निगम आयुक्त, कार्यकारी अधिकारी, शहरी स्थानीय निकायों के सचिव, एसएचओ इसके द्वारा पूर्वोक्त उपायों को लागू करने के लिए सभी आवश्यक कार्रवाई करने हेतु अधिकृत हैं। उन्होंने बताया कि स्थानीय पुलिस उपरोक्त अधिकारियों द्वारा अपेक्षित और आवश्यक सहायता प्रदान करेगी। किसी भी व्यक्ति को जो रोकथाम के उपायों का उल्लंघन करते हुए पाया गया है, उसे भारतीय दंड संहिता की धारा 188 (1860 का 45) के तहत दंडनीय अपराध माना जाएगा तथा पूर्व में लगाए गए प्रतिबंध राज्य के बाकी हिस्सों में लागू रहेंगे।  उन्होंने बताया कि किसी भी संदेह के मामले में, राज्य सरकार आवश्यक निर्देश व स्पष्टीकरण जारी करेगी।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
कोरोना से संक्रमित 20 मरीजों में से 6 लोग अब पूरी तरह से ठीक
कोरोना से निपटने के लिए सरकारी एवं गैर-सरकारी संस्थाओं, सामाजिक व धार्मिक संगठनों का सहयोग लें - राष्ट्रपति
15 अप्रैल से पहले नहीं शुरु कराएंगे फसल खरीद - हरियाणा सरकार
हरियाणा सरकार ने कैदियों की चार सप्ताह की विशेष पैरोल बढ़ाई
कोरोना वायरस: पूरे हरियाणा में लॉकडाउन लागू
कोरोना वायरस: पूरे हरियाणा में बंद लागू
मुख्यमंत्री ने कोरोना वायरस से लडने के लिए लगभग 1200 करोड़ रूपए प्रति माह की वित्तीय पैकेज की घोषणा की
नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) को हम सबको मिलकर रोकना है - मुख्यमंत्री
सरकार ने 2400 आइसोलेशन बैड, लगभग 6000 बैड कोरंटाइन के लिए तैयार करवाएं हैं - विज
हरियाणा में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए पूरे राज्य में धारा-144