Follow us on
Tuesday, August 11, 2020
Horoscope

साप्ताहिक राशिफल 04 मई 2020 से 10 मई 2020

May 03, 2020 07:55 AM

मेष - इस सप्ताह श्री सूर्य उच्च के होकर आपकी राशिगत गोचर करेंगे। जो आपके बल एवं बुद्धि को बढ़ाने वाले रहेगे। जिससे आप अधिक सक्रिय होकर अपने व्यापारिक क्रिया-कलापों को और गति देने में लगे हुये रहेंगे। हालांकि वांछित आमदनी को पाने के लिये आपको अपना धैर्य एवं विवेक बनाये रखने की जरूरत रहेगी। हालांकि गोचरीय सूर्य स्थान परिवर्तन करने के संकेत देता हुआ रहेगा। वहीं बुघ का गोचरीय प्रभाव आपको सेहत में भय एवं पीड़ा देने वाला रहेगा। वैवाहिक जीवन में आपसी सहयोग एवं चाहत की कमी बनी हुयी रहेगी। जिससे आप परेशान रहेंगे। किन्तु धन भावगत शुक्र का गोचरीय क्रम आपके लिये अच्छ रहेगा। जिससे आपको सुख एवं सम्पत्ति प्राप्त होती रहेगी। बाधाओं एवं परेशानियों से पार पाने की हिम्मत भी मिलती हुई रहेगी।

वृषभ - इस सप्ताह स्वगृही शुक्र का गोचर आपके स्वास्थ्य की रौनकता को बरकरार रखने वाले रहेंगे। जिससे आप और सकारात्मक होकर अपने कामों को करने की क्षमताओं से युक्त रहेगे। हालांकि देश एवं परिस्थति के चलते आपको कुछ बंदिशों से परेशानी रहेगी। राजनैतिक एवं व्यापारिक मामलों में आगे बढ़ने की चुनौती बनी हुई रहेगी। राहू का धन भावगत गोचर आपके धन व्यय में इजाफा करने वाला रहेगा। जिसे आप अपने स्तर पर परेशानी समझ बैठेंगे। हालांकि यह आपके लिये आगामी समय में उपयोगी साबित होता रहेगा। प्रयासों को तीव्र करें। इसी प्रकार अष्टमभाव गत केतू का गोचर भी प्रवास एवं कारोबारी जीवन में परेशानियों को देने वाला बना हुआ रहेगा। किन्तु भाग्य भावगत शनि एवं गुरू का गोचर आपको मिलेजुले परिणाम देने वाला रहेगा। जिससे आपको धन एवं सम्मान का लाभ बना हुआ रहेगा।

मिथुन - इस सप्ताह मिथुन राशि में राहू का गोचर रहेगा। जो कि आपको सरकारी एवं निजी क्षेत्रों में जिम्मेदारियों को बढ़ाने के लिये संकेत दे रहा है। जिससे संबंधित सेवा एवं सुविधाओं की बहाली के लिये और सुरक्षा मामलो में कड़ा परिश्रम करना पड़ेगा। हालांकि सेहत एवं घर परिवार के स्तर पर कई तरह के भय एवं पीड़ाओं के व्याप्त होने की स्थिति राहू दे सकता है। अतः अपने विवेक का सहारा लेते हुये कामों को पूरा करने में ध्यान देने की जरूरत बनी हुई रहेगी। और परिवार के सदस्यों से अनावश्य न उलझे। हालांकि दारा भावगत केतू का गोचर आपको न्यायायिक मामलों में परेशानी देने वाला रहेगा। इसी प्रकार अष्टम भावगत गुरू एवं शनि का गोचर भी आपके लिये हानिप्रद बना हुआ रहेगा। किन्तु आय भावगत सूर्य का गोचर आपकी आमदनी एवं सम्मान को बरकरार रखने वाला रहेगा। जिससे आप राहत की सांस लेते हुये रहेगे।

कर्क  - इस सप्ताह कर्क राशि वालों के षष्ठ भावगत केतू का गोचर रहेगा। जो आपको, उत्पादन, विक्रय एवं अनुबंध के कामों के लिये दौड़ाने वाला बना हुआ रहेगा। यदि आप सामाजिक एवं राजनैतिक क्षेत्रों से जुड़े है। और अपनी सेवायें देने के इच्छुक है। तो प्रयासों को तीव्र करे, तो लाभ मिलता हुआ रहेगा। वैसे धन के मामलें में आपको अधिक व्यय करने की जरूरत बनी हुई रहेगी। इसी प्रकार शनि का गोचर दारा भावगत होने से वैवाहिक जीवन की कठिनाइयों एवं पीडाओं को बढ़ाने वाला बना हुआ रहेगा। अतः आपको अपने स्वभाव में नरमी रखते हुये परस्पर व्यवहारों को नम्र रखने की जरूरत बनी हुई रहेगी। इस सप्ताह पाप ग्रहीं गोचर के कारण आपको कई तरह की समस्याओं का सामाना करना पड़ेगा। हालांकि सूर्य का गोचर आपके लिये सुख एवं सम्मृद्धि का कारक बना हुआ रहेगा।

सिंह - इस सप्ताह सिंह राशि वाले के पुत्र भावगत केतू का गोचर रहेगा। जिससे संतान की सुरक्षा एवं प्रगति की बातें आपको परेशान करने वाली रहेगी। यदि आप किसी मशीनरी एवं तकनीक के काम से जुड़े है। तो भी इस सप्ताह चुनौतियों का दौर बना हुआ रहेगा। क्योंकि एक के बाद एक समस्याओं का क्रम बना हुआ रह सकता है। यदि आप राजनीति एवं समाज के कामों से ताल्लुक रखने वाले है। तो इस संदर्भ में आपको अपनी सक्रियता को और उच्च करने की जरूरत रहेगी। निजी संबंधों में साथी के प्रति उत्साह की कमी का दौर बना हुआ रहेगा। इसी प्रकार रोग भावगत शनि का गोचर आपको ससुराल पक्ष से लाभ दिला सकता है। या फिर किसी खास मित्र या रिश्तेदार से मिलने के लिये तैयार रहेंगे। गोचरीय ग्रह सूर्य एवं बुध भी आपके पराक्रम एवं बौद्धिक स्थिरता को बनाये रखने की चुनौती देने वाला रहेगा।

कन्या - इस सप्ताह कन्या राशि वालों के सुख भावगत केतु का गोचर रहेगा। जो आपको व्यापारिक संचालन हेतु और परिश्रम करने की स्थिति को देता रहेगा। क्योंकि आपको इस सप्ताह में आजीविका के क्षेत्रों में बाजार में अपनी पकड़ को बनाने का संशय कायम रहेगा। घरेलू सुख-सुविधाओं को बनाये रखने की चुनौती रहेगी। यदि आप नौकरी करते है, तो आपको मेहनत के अनुसार पारिश्रमिक न मिलने से परेशानी रहेगी। इन सब परेशानियों के बीच भी आपको अध्ययन एवं अध्यापन के मामलों में अच्छी कामयाबी की स्थिति बनी हुई रहेगी। वैवाहिक जीवन खुशनुमा बना हुआ रहेगा। संतान पक्ष की तरफ से खुशी रहेगी। हालांकि शनि का गोचरीय संबंध कुछ-कुछ परेशानियों को देने वाला रहेगा। अपने स्तर पर सावधानी बनाये रखना जरूरी रहेगा।

तुला - इस सप्ताह आपके पराक्रम भाव में केतु का गोचर रहेगा। जो आपके विकास एवं सुख के वातावारण को निर्मित करने के संकेत दे रहा है। जिससे आप अपने कारोबारी जीवन के सर्वांगीण विकास के लिये चल पड़ेगे। इस सप्ताह भाई एवं बहनों के साथ भी अच्छा तालमेल बना हुआ रहेगा। संस्था के उन्नति के हेतु कुछ खास कदमों को उठायेंगे। किन्तु शनि तथा गुरू का सुख भावगत गोचर आपके लिये रूकावटों को देने वाला रहेगा। या फिर कोई प्रतिस्पर्धी फिल्म, संगीत, कला तथा उत्पादन के क्षेत्रों में आपको पीछे छोड़ सकता है। पे्रम संबंधों में साथी की कुछ बातें आपको मनमानी प्रतीत होगी। जिससे समांजस्य का क्रम गड़बड़ हो सकता है। धैर्य एवं विवेक को बनाकर चलना आपके लिये लाभप्रद रहेगा। कामोंबेश वैवाहिक जीवन में भी रोग एवं पीड़ाओं से परेशानी की स्थिति रहेगी।

वृश्चिक - इस सप्ताह़ वृश्चिक राशि के धन भावगत केतू का गोचर रहेगा। जिससे लाभकारी वस्तुओं का संग्रह एवं उत्पादन जारी रहेगा। तकनीक एवं मशीनरी कामों को और प्रगति देने की इच्छा बढ़ी हुई रहेगी। यदि आप किसी कानूनी मामलें में पंजीकृत हैं, तो इस सप्ताह आपके पक्ष को बढ़त की स्थिति बनी हुई रहेगी। हालांकि इस सप्ताह धन के अधिक व्यय होने के आसार बने रहेगे। विदेश एवं प्रवास के मामलों में संबंधित पक्ष से सम्पर्क साधने की जरूरत रहेगी। पराक्रम भावगत शनि का गोचर आपको बहुत हद तक सहयोगी बना हुआ रहेगा। जिससे कार्य पूर्ण होते रहेंगे। वहीं गुरू ग्रह का गोचर आपको घर परिवार के साथ मिलजुलकर एवं नम्र होकर चलने के संकेत दे रहा है। क्योंकि आपको अपनी बचत एवं सुरक्षा को ध्यान में रख कर चलने की जरूरत बनी हुई रहेगी।

धनु - इस सप्ताह धनु राशि में केतू का गोचर रहेगा। जिससे आपको अपने रहन-सहन एवं खान-पान को और अच्छा करने की जरूरत बनी हुई रहेगी। हल्के किस्म के व्यायाम और आसनों को करने की जरूरत बनी हुई रहेगी। इस दौरान व्यापारिक संचार एवं सूचनाओं को जुटाने तथा उनके आधार पर कार्मिक एवं व्यवसायिक योजनाओं को अंजाम तक पहुंचाने की फिक्र बनी हुई रहेगी। हालांकि सेहत में पीड़ाये सम्भव है। अतः सजगता को बनाये रखने की जरूरत बनी हुई रहेगी। इसी प्रकार धन भाव में शनि का गोचर भूमि एवं अचल सम्पत्ति के मामलों में कठिनाइयों को देने वाला रहेगा। प्रवास एवं निवास तथा निवेश के कामों में कठिनाइयों का दौर रहेगा। किन्तु गुरू का गोचर आपके लिये संजीवनी की तरह रहेगा। जिससे कई कामों के पूरा होने के आसार बने हुये रहेगे। और सेहत की क्षमताओं को बढ़ाने में सक्षम रहेंगे।

मकर - इस सप्ताह मकर राशि में स्वग्रही शनि की स्थिति रहेगी। जो आपको कारोबारी जीवन में और भी जिम्मेदार बनाने वाली रहेगी। इस दौरान आप सूचना एवं संचार तथा उत्पादन के यंत्रों की खरीद या फिर उनके रख-रखाव की तरफ जाने को तैयार रहेगे। शरीर को और पुष्ट रखने एवं रोगप्रतिरोधक क्षमताओं को और बढ़ाने के लिये आपको कड़े स्तर की मेहनत की जरूरत रहेगी। क्योंकि सेहत का रक्षात्मक कवच आपके लिये जरूरी रहेगा। वहीं गुरू का गोचर भी घर परिवार की समझ को खराब कर सकता है। जिससे परस्पर झगड़ो की स्थिति होने के आसार रहेंगे। अतः सूझबूझ कर चलने में ही फायदा रहेगा। हालांकि शुक्र का गोचर आपके लिये अंधियारे वातावरण में एक उम्मीद की किरण की तरफ रहेगा। जिससे आप कई मोर्चों पर सफल होते रहेंगे। अतः देशकाल वातावरण के अनुसार अपने कदमों को बढाते रहेंगे।

कुम्भ - इस सप्ताह कुम्भ राशि से पराक्रम भाव में सूर्य का गोचर। आपको ऐश्वर्यवान एवं धनवान बनाने के संकेत दे रहा है। जिससे आपके कई काम तय समय में पूरे होते रहेंगे। इस सप्ताह किसी समाजिक एवं राजनैतिक संगठन के किसी बड़े पद हेतु आपको चयनित किये जाने की स्थिति बनी हुई रहेगी। धर्म एवं परोपकार के कामों में भी आप बढ़ चढ़ कर योगदान देने को तैयार रहेंगे। हालांकि सैन्य एवं सुरक्षा के मामलों को लेकर आपकी परेशानी बढ़ी हुई रहेगी। जिससे आपको अपने कामो को दुरूस्त करने में वक्त लग सकता है। स्वास्थ्य एवं प्रवास के लिये यह सप्ताह कष्टप्रद साबित हो सकता है। ध्यान देते हुये रहेंगे। तो अच्छा रहेगा। किन्तु सुखभाव गत शुक्र का गोचर आपकी मूलभूत सुविधाओं को बढ़ाने वाला रहेगा। किन्तु राहू का गोचर पे्रम एवं संतान के मामलों में चिंताये दे सकता है।

मीन - इस सप्ताह मीन राशि के धन भावगत श्री सूर्य का गोचर रहेगा। जो आपको निवेश एवं विदेश के मामलों में अच्छी बढ़त को देने वाला रहेगा। किसी संस्था एवं उच्च ओहदे के व्यक्ति के साथ देश एवं विदेश में संवाद करने के अवसर रहेगे। जो आपकी प्रसन्नता को बढ़ाने वाला रहेगा। हालांकि स्वास्थ्य को लेकर यह समय कुछ कष्टप्रद हो सकता है। अतः जरूरी उपचारों को लेने में कोताही से बचे। हालांकि पराक्रम भाव में शुक्र की गोचरीय स्थिति आपके शुभ एवं मंगल करने संकेत दिये है। जिससे आपका शुभ एवं मंगल होता रहेगा। पारिवारिक जीवन में मेल मिलाप बढ़ा हुआ रहेगा। जिससे आप उदार होकर कल्याण के रास्ते को अपनाते रहेंगे। हालांकि राहू का गोचर इस सप्ताह आपको अचानक ही किसी मामलें में गुस्सा देने वाला रहेगा। जिससे आप परेशान रहेंगे।

Have something to say? Post your comment