Follow us on
Monday, June 01, 2020
BREAKING NEWS
कोविड-19: भारत सातवां सर्वाधिक प्रभावित देशकोरोना वायरस से गरीब एवं श्रमिक सबसे ज्यादा बुरी तरह प्रभावित हुए हैं - प्रधानमंत्री मोदीपाकिस्तान ने पुंछ में नियंत्रण रेखा से सटे इलाकों में गोलाबारी की, एक व्यक्ति घायलट्रम्प ने जी 7 सम्मेलन टाला, भारत समेत अन्य देशों को करना चाहते हैं शामिलखिलाड़़ियों के लिये चार्टर्ड विमान, कोविड परीक्षण जैसी योजनाएं बना रहा है यूएस ओपनकर्जमुक्त कंपनी बनने के लक्ष्य की ओर अग्रसर है रिलायंस - रिपोर्टदुनिया के 213 देशों में अबतक 62 लाख से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित, 3 लाख 73 हजार की मौतमशहूर संगीतकार जोड़ी साजिद-वाजिद के वाजिद खान का मुम्बई में निधन
Politics

ओछी राजनीति कर रही हैं प्रियंका - योगी सरकार

May 18, 2020 07:05 AM

लखनऊ (भाषा) - उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ काबीना मंत्री और प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पर प्रवासी कामगारों के मुद्दे का राजनीतिकरण करने का आरोप लगाते हुए कहा कि वह ओछी सियासत कर रही हैं।

सिंह ने रविवार को यहां एक बयान में कहा "यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कांग्रेस पार्टी प्रवासी श्रमिकों के मुद्दे का राजनीतिकरण कर रही है। प्रियंका उत्तर प्रदेश की सीमा पर बसें भेजने की बात कर रही हैं। इससे जाहिर होता है कि उन्हें वस्तुस्थिति की जानकारी ही नहीं है और वह केवल ओछी राजनीति कर रही हैं।" मंत्री का यह बयान प्रियंका गांधी की उस मांग के बाद आया है जिसमें उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से प्रवासी श्रमिकों को घर वापस लाने के लिए 1000 बसें चलाने और उनका किराया पार्टी द्वारा वहन किए जाने की इजाजत मांगी थी।

सिंह ने कहा,‘‘प्रवासी कामगार उत्तर प्रदेश से नहीं बल्कि पंजाब, महाराष्ट्र और राजस्थान जैसे राज्यों से आ रहे हैं। इन राज्यों में या तो कांग्रेस की सरकार है या फिर उनके गठबंधन की सरकार। अगर प्रियंका को स्थिति की जानकारी होती तो वह उन राज्यों में बसें उपलब्ध कराने को कहतीं लेकिन दुर्भाग्य की बात है कि वह अपने ही मुख्यमंत्रियों से यह बात नहीं कह पा रही हैं और उत्तर प्रदेश सरकार पर उंगली उठा रही हैं। यह उनकी नासमझी को जाहिर करता है।’’ मंत्री ने कहा कि योगी सरकार ने 400 रेलगाड़ियों और 11000 बसों का इंतजाम करके अन्य राज्यों से प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचवाया है।

गौरतलब है कि प्रियंका गांधी ने शनिवार को आदित्यनाथ को लिखे पत्र में आरोप लगाया था कि सरकार की तमाम घोषणाओं के बावजूद प्रवासी मजदूरों की सुरक्षित वापसी के समुचित इंतजाम नहीं किए गए हैं। उन्होंने कहा था कि कांग्रेस गाजियाबाद और नोएडा की सीमाओं पर कुल 1000 बसें चलाना चाहती है और इसका पूरा खर्च पार्टी उठाएगी।

रविवार को उन्होंने कई ट्वीट करके कहा, ‘‘ उत्तर प्रदेश की सीमाओं पर बड़ी संख्या में श्रमिक मौजूद हैं। वे पैदल चल रहे हैं और आज उन्हें घंटों खड़ा रखा गया। उन्हें उत्तर प्रदेश में दाखिल नहीं होने दिया जा रहा है। वे पिछले 50 दिनों से बेरोजगार हैं। महज घोषणा और प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाने के नाम पर तुच्छ राजनीति करने से कुछ नहीं होगा। श्रमिकों को वापस लाने के लिए और ट्रेनें तथा बसें चलाई जानी चाहिए।’’

Have something to say? Post your comment
 
More Politics News
कोविड-19: भारत सातवां सर्वाधिक प्रभावित देश मोदी के दूसरे कार्यकाल का पहला साल ऐतिहासिक उपलब्धियों से भरा रहा - शाह चीन के साथ सीमा पर हालात के बारे में देश को अवगत कराए सरकार - राहुल महाराष्ट्र में कोरोना से पिछले 24 घंटों में 85 की मौत, 22 पुलिसकर्मी भी शामिल पश्चिम बंगाल में स्कूल 30 जून तक रहेंगे बंद प्रवासी मजदूरों के मामले में सुप्रीम कोर्ट का केंद्र और सभी राज्यों को नोटिस, कहा- मुफ्त में करें मदद कोविड-19 :मरीजों की संख्या बेतहाशा बढ़ने की आशंका, 13000 बिस्तरों की तैयारी में जुटा इंदौर प्रशासन अचानक लॉकडाउन लागू करना गलत था - ठाकरे आईसीएमआर ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के इस्तेमाल पर संशोधित परामर्श किया जारी कोरोना संकट पर 22 दलों ने 4 घंटे की मीटिंग, लॉकडाउन पर मोदी सरकार को घेरा