Follow us on
Sunday, June 07, 2020
World

डब्ल्यूएचओ चीन के हाथ की कठपुतली है - ट्रंप

May 20, 2020 06:44 AM

वाशिंगटन (भाषा) - अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) पर एक बार फिर सोमवार को हमला बोला और कहा कि संयुक्त राष्ट्र का यह स्वास्थ्य निकाय चीन के हाथ की ‘कठपुतली’ है। ट्रंप ने दावा किया कि अगर उन्होंने चीन से यात्रा पर प्रतिबंध नहीं लगाए होते तो कोरोना वायरस से देश में और लोगों की मौत हुई होती जिसका स्वास्थ्य एजेंसी ने ‘विरोध’ किया था।

ट्रंप ने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा, “वे (डब्ल्यूएचओ) चीन के हाथ की कठपुतली हैं। सही ढंग से कहा जाए तो वे चीन केंद्रित हैं। लेकिन वे हैं चीन के हाथ की कठपुतली ही।” ट्रंप ने एक सवाल के जवाब में कहा, “मुझे लगता है कि उन्होंने बहुत खराब काम किया है। अमेरिका उन्हें हर साल 45 करोड़ डॉलर देता है। चीन उनको साल में 3.8 करोड़ डॉलर का भुगतान करता है।”

ट्रंप ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन जनवरी अंत में चीन से यात्रा पर प्रतिबंध लगाए जाने के खिलाफ था। उन्होंने कहा, “डब्ल्यूएचओ इसके खिलाफ था। वे मेरे प्रतिबंध लगाने के खिलाफ थे। उन्होंने कहा था कि आपको इसकी जरूरत नहीं है, ये बहुत ज्यादा है और बेहद सख्त है लेकिन वे गलत साबित हुए।”

ट्रंप ने कहा कि डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार एवं पूर्व उपराष्ट्रपति जो बाइडेन भी इस प्रतिबंध के खिलाफ थे। उन्होंने कहा, “सुस्त जो बाइडेन ने भी यही बात कही थी। उन्होंने कहा कि मैं विदेशी लोगों से नफरत करता हूं। ऐसा इसलिए कहा गया क्योंकि मैंने कहा था कि चीन से आने वाले लोग देश में प्रवेश नहीं कर सकते। आप अब बहुत जल्दी हमारे देश में प्रवेश नहीं कर सकते। और बाइडेन ने कहा कि मैं विदेशियों से नफरत करता हूं।”

ट्रंप ने कहा, “अगर मैंने प्रतिबंध नहीं लगाया होता, तो इस देश ने हजारों और लोगों को गंवा दिया होता। यह बहुत महत्त्वपूर्ण प्रतिबंध था। लोग प्रतिबंध के बारे में बात करना पसंद नहीं करते लेकिन यह बहुत महत्त्वपूर्ण था।” राष्ट्रपति ने दावा किया कि उन्हें छोड़कर कोई नहीं चाहता था कि यह प्रतिबंध लगाया जाए।

Have something to say? Post your comment
 
More World News
गूगल: ट्रम्प, बाइडेन के अभियानों को हैक करने की कोशिश की गई अमेरिकी समाज के संस्थागत नस्लवाद को खत्म करने की जरुरत - संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख चीन-भारत सीमा पर स्थिति स्थिर, तीसरे पक्ष की मध्यस्थता की कोई आवश्यकता नहीं - चीन साईबेरिया में आपातकाल की घोषणा, 20 हजार टन डीजल ईंधन बहने के बाद राष्ट्रपति पुतिन ने लिया कोरोना वायरस की जानकारी देने में चीन ने देरी की - डब्ल्यूएचओ भारत से लगती सीमा पर स्थिति स्थिर और नियंत्रण योग्य - चीन ट्रम्प ने जी 7 सम्मेलन टाला, भारत समेत अन्य देशों को करना चाहते हैं शामिल दुनिया के 213 देशों में अबतक 62 लाख से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित, 3 लाख 73 हजार की मौत मिनेसोटा के गवर्नर ने सीएनएन पत्रकार की गिरफ्तारी के लिए मांगी माफी चीन ने भारत के साथ सीमा गतिरोध में मध्यस्थता के ट्रम्प के प्रस्ताव को किया खारिज