Follow us on
Monday, July 06, 2020
Horoscope

साप्ताहिक राशिफल 22 जून 2020 से 28 जून 2020

June 21, 2020 09:56 AM

मेष - इस सप्ताह मेष राशि के सम्पत्ति भावगत शुक्र का गोचर रहेगा। जो आपको फिल्म, विद्या, संगीत, प्रबंधन, सैन्य सुरक्षा के क्षेत्रों में सहयोगी एवं लाभकारी बना हुआ रहेगा। जिससे आप प्रसन्न रहेंगे। हालांकि आपको इस सप्ताह किसी प्रवास एवं विदेश के मामलों में लाभ की स्थिति बनी हुई रहेगी। जिससे आप प्रसन्न रहेंगे। निजी संबंधों में साथी के साथ किसी वांछित बाजार में खरीद को अंजाम देने में लगे हुये रहेंगे। इसी प्रकार पराक्रम भावगत सूर्य एवं  राहू तथा बुध का गोचर भी आपको शक्ति एवं उर्जा से सम्पन्न करने वाला रहेगा। जिससे आप प्रसन्न रहेंगे। बन्धु एवं बान्धवों के साथ तालमेल बिठाने की स्थिति बनी हुई रहेगी। क्योंकि भाग्य भावगत केतू एवं कर्म भावगत गुरू एवं शनि का गोचर भी आपको मिलेजुले फलों को देने वाला रहेगा। अतःसंबंधित क्षेत्रों में सावधानी बनाकर चलने में ही फायदा रहेगा।

वृषभ -  इस सप्ताह इस राशि में स्वग्रही शुक्र का गोचर रहेगा। जा आपके ज्ञान यानी विवेक शक्ति को और पुष्ट करने वाला रहेगा। यदि आप उत्पादक एवं उद्योग से संबंध रखने वाले है, तो अपने सेवा एवं उत्पादों की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिये तत्पर रहेंगे, सेहत के लिये यह गोचर अच्छा रहेगा। तथा पारिवारिक जीवन मे सम्मान बढ़ा हुआ रहेगा। सम्पत्ति भावगत बुध का गोचर आपको न्याय, सम्पत्ति तथा विदेश के कामों में वृद्धि देने वाला रहेगा। जिससे आप अपने प्रसासों को फलीभूत करने में सक्षम रहेगे। किन्तु सूर्य एवं राहू का गोचर परेशानियों की स्थिति को बता रहा है। अतः विदेश एवं प्रवास तथा तकनीक के अपने कामों को पूरा करने के लिये अतिरिक्त सावधानी बनाकर चले तो ठीक रहेगा। अन्यथा हानि की स्थिति हो सकती है।

मिथुन - इस सप्ताह मिथुन राशि में स्वग्रही बुध का गोचर रहेगा। जो आपके तन की तंदुरूस्ती को बढ़ाने के लिये अधिक प्रेरित करने वाला रहेगा। हालांकि स्वगृही होने के कारण बुध यदि भला नहीं करेगा। तो बुरा भी नहीं करेगा। किन्तु राहू एवं सूर्य के कारण व्यापारिक जीवन में चुनौतियों का दौर जारी रहेगी। घर परिवार में यद्यपि मिलजुल कर चलने की फिक्र बनी हुई रहेगी। यदि कोई विदेश एवं प्रवास के मामलें हैं, तो वहाँ चुनौती का दौर रहेगा। आपको सूझबूझ से चलने की जरूरत बनी हुई रहेगी। इसी प्रकार दारा भावगत केतु का गोचर भी उतने अच्छे परिणामों को देने वाला नहीं रहेगा। गुरू अष्टमभाव में शनि के साथ होकर आपको और सावधानी बनाने के संकेत दे रहे हैं। अतः प्रवास सहित लेन-देन के मामलों में आपको सतर्क होकर चलने की जरूरत इस सप्ताह बनी हुई रहेगी। इसी प्रकार स्वास्थ्य को लेकर भी आपको जरूरी उपचारों की जरूरत रहेगी।

कर्क - इस सप्ताह कर्क राशि के षष्ठ भावगत केतू का गोचर रहेगा। जो आपको तकनीक, प्रबंधन, उत्पादन के क्षेत्रों में हौसला देने वाला रहेगा। जिससे आप अपने कामों को और तीव्रता के साथ करने में व्यस्त रहेगे। बहुत सम्भव है किसी रिश्तेदार से मिलने के लिये इस सप्ताह आप तैयार रहेंगे। हालांकि निजी संबंधों में तालमेल का क्रम गड़बड़ हो सकता है। यानी केतू का गोचर आपके लिये कल्याणकारी रहेगा। जिससे आप अपने कई कामों को और ठीक ढंग से करने में व्यस्त रहेंगे। इसी प्रकार दारा भावगत गुरू का गोचर वैवाहिक संबंधों को और पुष्ट करने वाला तथा परस्पर सहयोगी बना हुआ रहेगा। हालांकि वहा मौजूद शनि आपके प्रयासों को झटका देने में लगे हुये रहेगे। अतः सूझबूझ से चले अन्यथा हानि की स्थिति हो सकती है। मंगल भी आपके लिये सकारात्मक नहीं रहेगे। किन्तु शुक्र आपके लिये अनुकूल और लाभप्रद बने हुये रहेंगे।

सिंह - इस सप्ताह सिंह राशि वाले के सुत भावगत केतू का गोचर रहेगा। जिससे आपके हाथ से कोई फिल्म एवं निर्माण के काम निकल सकते है। ऐसे में कुछ लाभकारी योजनाओं के प्रोजक्ट को प्राप्त के लिये आपको और प्रयासों को बढ़ाने की जरूरत बनी हुई रहेगी। पे्रम संबंधों में साथी की बातों से कुछ परेशान रहेंगे। संतान पक्ष को लेकर भी आपको उनसे नाराजगी हो सकती है। अतः बातों को समझकर ही कोई कदम उठाने अन्यथा हानि की स्थिति हो सकती है। इसी प्रकार षष्ठभावगत गुरू एवं शनि का गोचर जिससे संबंधित संस्था में तबादले एवं पदोन्नति के मानकों को तय करने में अधिक जोर बना हुआ रहेगा। जिससे अधिकारियों एवं कर्मचारियों को संतोष दिलाया जा सकें। अष्टमभावगत मंगल अचानक ही आपकी बुद्धि को कुण्ठित कर सकता है। अतः किसी को अप्रिय न कहे।

कन्या - इस सप्ताह कन्या राशि वालों के मातृ भावगत केतु का गोचर रहेगा। जो घरेलू जीवन में बार-बार मन को परेशान करने वाला एवं तनाव देने वाला बना हुआ रहेगा। कुछ बातों में परविार के लोगों से सहयोग प्राप्त करने तथा उन्हें रिझाने के लिये कशमश करते रहेंगे। हालांकि भौतिक सुख के साधनों को जुटाने और उनसे लाभ अर्जित करने में आपको और बड़े स्तर की मेहनत करने की जरूरत रहेगी। स्वास्थ्य के लिहाज से यह सप्ताह प्रतिकूल बना हुआ रहेगा। सुत भावगत गुरू ने आपकी आमदनी को बढ़ने के इशारे किये हैं। यदि आप फिल्म निर्माता है। तो गुरू के गोचर के कारण शुभता रहेगी। किन्तु शनि ने सुस्ती एवं रूकावटों की स्थिति के संकेत दिये है। यदि आप किसी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी में है तो आलस्य के गुणों को छोड़ गुरू के विवेक का प्रयोग करेंगे। तो निश्चित तौर पर आप कामयाब बने हुये रहेगे।

तुला - इस सप्ताह आपके पराक्रम भाव में केतु का गोचर रहेगा। जिससे आप अपने कार्मिक पहलुओं को संभालने की बैठक संबंधित अधिकारियों के साथ बुला सकते हैं। जिससे उन्हें संबंधित तथ्यों की जांच हेतु उपयुक्त दिशा निर्देश मिल सकें। हालांकि उत्पादन एवं विक्रय को हासिल करने के लिए इस सप्ताह कठिन परिश्रम करने की जरूरत बनी हुई रहेगी। इसी प्रकार सुख भावगत गुरू एवं शनि पहुंचकर आपको बाजार की स्थिति को भाँपने और उससे लाभ कमाने में चूक करवा सकते है। अतः सही तथ्यों की जानकारी को अर्जित करने के बाद ही कोई कदम उठाये अन्यथा हानि की स्थिति हो सकती है। सेहत में आपको सावधानी बनाकर चलने की जरूरत रहेगी। परिवार के साथ भी कुछ बातों में मनमुटाव हो सकता है। अतः पूरी सावधानी बनाकर चलने में ही फायदा रहेगा। अनावश्यक बातों में किसी न उलझें।

वृश्चिक - इस सप्ताह़ वृश्चिक राशि के सम्पत्ति भावगत केतू का गोचर रहेगा। जो आपके कार्य एवं व्यवसाय की दशा एवं दिशा को तय करने वाला रहेगा। यदि आप किसी मिशन एवं जागरूकता अभियान के कर्णधार है। तो अनावश्यक वस्तुओं की बर्बादी एवं दुरूपयोग को रोकने के लिये संबंधित अधिकारियों को आदेशित करेंगे। और खुद ही कोई ऐसी मिशाल पेश करने में लगे हुये रहेंगे। जिससे लोग आपकी सराह सकेंगे। वैसे प्रवास एवं परदेश में कड़ी चुनौती का दौर हो सकता है। इसी प्रकार पराक्रम भाव में गुरू एवं शनि का गोचर आपको खुशकिस्मत बनाने वाला रहेगा। जिससे कुछ उत्पादन विक्रय एवं कारोबारी कड़ी को जोड़ने के प्रयास में रहेंगे। हालांकि मंगल तकनीक मामलों में अच्छे रहेंगे। किन्तु पे्रम एवं पैसा के लिये शुक्र का गोचर आपका मुरीद बना हुआ रहेगा।

धनु -  इस सप्ताह धनु राशि में केतू का गोचर रहेगा। जिससे आपको अपने विवेक का प्रयोग बड़े स्तर पर करने की जरूरत बनी हुई रहेगी। क्योंकि व्यापारिक जीवन में सुस्ती का दौर आ सकता है। जिससे आप परेशान रहेंगे। क्योंकि इस सप्ताह बढ़ती हुई जरूरतों को पूर्ण करने के लिये आपको अधिक परिश्रम करने की जरूरत बनी हुई रहेगी। हालांकि पत्नी एवं बच्चों को पौष्टिक आहार की उपयोगिता को बताने में व्यस्त रहेंगे। यानी सेहत के लिये यह सप्ताह मध्यम परिणाम देने वाला रहेगा। धन भावगत गुरू का गोचर आपको कार्य एवं व्यापार में इस सप्ताह तरक्की के संकेत देता हुआ रहेगा। जिससे तकनीक एवं प्रबंधन, फिल्म, एवं साहित्य, चिकित्सा के क्षेत्रों में अच्छे लाभ के अवसर रहेंगे। किन्तु शनि के कारण आपको कुछ सुस्ती एवं परेशानियों  के दौर से गुजरना पड़ सकता है।

मकर - इस सप्ताह मकर राशि में स्वग्रही शनि का गोचर रहेगा। जिससे आप कार्यालय एवं आवास की समस्याओं के निस्तारण में लगे हुये रहेंगे। यदि आप किसी प्रवास  एवं विदेश के कामों से जुड़े है तो आपको अधिक प्रयासों को करने की जरूरत बनी हुई रहेगी। क्योंकि यहाँ गुरू का संबंध भी आपको स्वास्थ्य की समस्याओं को देने वाला रहेगा। जिससे आपको कुछ आवश्यक उपचारों को अपनाना पड़ सकता है। हालांकि पराक्रम भाव का मंगल आपकी महत्त्वाकांक्षा को बढ़ाने वाला रहेगा। परिवार के साथ परस्पर सहयोग की स्थिति बनी हुई रहेगी। किन्तु मशीनरी कामों में आपको और सतर्क होकर चलने की जरूरत बनी हुई रही रहेगी। वही पंचम भावगत शुक्र विद्या एवं सम्मान को बढ़ाने वाले रहेंगे। बहुत सम्भव है कि आपकी आमदनी भी इस सप्ताह सामान्य स्तर से उच्च रहेगी। पे्रम संबंध अच्छे बने हुये रहेंगे।

कुम्भ - इस सप्ताह कुम्भ राशि के सम्पत्ति भावगत मंगल का गोचर रहेगा। जो कि आपको कुछ प्रयोगों एवं झगड़े की तरफ ढ़केल सकता है। जिससे आप परेशान रहेंगे। भौतिक सुख के साधनों को और उन्नति देने का विचार आज गौड़ रहेगा। क्योंकि विदेश एवं प्रवास के मामलों में आपका धन नष्ट हो सकता है। स्वास्थ्य के लिये भी यह गोचर प्रतिकूल स्थिति को देने वाला रहेगा। जिससे आप लगातार परेशान बने हुये रहेंगे। किन्तु सुख भावगत शुक्र का गोचर आपके लिये मंगलप्रद एवं कल्याणप्रद बना हुआ रहेगा। जिससे आपकी आमदनी बढ़ने के पूरे आसार बने हुये रहेंगे। स्वास्थ्य में कुछ परेशानियों का दौर आ सकता है। किन्तु घर की सुन्दरता एवं साधनों को विस्तार देने की मुहिम छिड़ी हुई रहेगी। जिससे आप प्रसन्न रहेंगे। हालांकि किसी पुराने साथी या कर्मचारी से कुछ तनाव की स्थिति रहेगी। अप्रिय शब्दों के प्रयोग से बचें।

मीन - इस सप्ताह मीन राशि के लग्नभाव मंगल का गोचर रहेगा। जिससे आपको अपनी शारीरिक क्षमताओं को पुष्ट करने की स्थिति और मजबूती के साथ विस्तारित करने की जरूरत बनी रहेगी। हालांकि आपको अपने व्यापार एवं शरीर की रक्षा के लिये  यत्किंचित् प्रयासों को जारी रखने की जरूरत बनी हुई रहेगी। यदि आप नौकरी करते है, तो संबंधित पदों में आपके योगदान के श्रेय को कोई और लेने की फिराक में रहेगा। जिससे आप कुछ परेशान रहेंगे। किन्तु पराक्रम भावगत शुक्र का गोचर आपके लिये लाभ एवं धन अर्जित करने की स्थिति को देता रहेगा। जिससे आपकी कई कोशिशें सफल होती रहेगी। और आपको अच्छा धन लाभ मिलेगा। पद एवं कामों की कुशलता के सम्मान के लिये आपको चुने जाने की पूरी उम्मीदें बनी हुई रहेगी। जिससे आप प्रसन्न रहेंगे। सूर्य, बुध एवं राहू का गोचरीय फल आपके लिये मिश्रित परिणामों को देने वाला रहेगा।

Have something to say? Post your comment