Follow us on
Wednesday, September 30, 2020
World

ब्रिटेन में भारतीय मूल के लोगों में बढ़ रहे मौत के मामले, स्थानीय स्तर पर लॉकडाउन की तैयारी

June 29, 2020 06:37 AM

लंदन (भाषा) - ब्रिटेन सरकार ने रविवार को कहा कि वह कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर कुछ क्षेत्रों में स्थानीय स्तर पर लॉकडाउन लगाने की योजना बना रही है, क्योंकि नवीनतम आंकड़ों से पता चला है कि ब्रिटेन के जातीय अल्पसंख्यकों के बीच भारतीय मूल के लोग इस जानलेवा वायरस से सबसे बुरी तरह प्रभावित लोगों की श्रेणी में आते हैं।

गृह मंत्री प्रीति पटेल ने लीसेस्टर में इस तरह के पहले स्थानीय लॉकडाउन की खबरों को 'सही' बताया है। पूर्वी ब्रिटेन के इस क्षेत्र में भारतीय मूल के लोगों की अच्छी खासी तादाद है। पटेल ने कहा, 'हम विशेष रूप से पिछले तीन या चार हफ्तों से देश भर में संक्रमण के मामलों में तेज बढ़ोतरी देख रहे हैं। लीसेस्टर में मदद भेजी जा रही है।'

उन्होंने कहा कि स्थानीय स्तर पर बढ़ोतरी को देखते हुए यही सही है कि हम संक्रमण की रोकथाम के लिये स्थानीय स्तर पर ही समाधान तलाशें। इसके तहत शारीरिक दूरी का सख्ती से पालन कराने, जांच तेज करने समेत अन्य कदम उठाए जाएं। ऐसा करने से हम वायरस को फैलने से रोक सकते हैं। हमारे यहां संक्रमण चरम पर पहुंच सकता है।

पटेल का यह बयान ऐसे समय में आया है जब ब्रिटेन में मृतकों की दैनिक संख्या में कमी आ रही है और चार जुलाई से लॉकडाउन पाबंदियों में ढील देने की तैयारी चल रही है। इसके तहत बार, रेस्त्रां और सिनेमाघर लोगों के लिये खोल दिये जाएंगे। हालांकि इस दौरान कोविड-19 के नियमों का सख्ती से पालन करने की हिदायत दी गई है।

इस बीच, एनएचएस इंग्लैंड के नवीनतम आंकड़ों से पता चला है कि भारतीय मूल के 763 लोग अब तक कोविड-19 के चलते जान गंवा चुके हैं।

Have something to say? Post your comment
 
More World News
दुबई में नाइटलाइफ पर नये प्रतिबंध पाकिस्तान में यात्री बस में आग, 13 की मौत नए दस्तावेजों के अनुसार डेमोक्रेटिक पार्टी कहने पर रूस ने दिया था 2016 के चुनाव में दखल - ट्रंप किम जोंग उन ने दक्षिण कोरियाई अधिकारी की हत्या की घटना पर खेद प्रकट किया वैश्विक महामारी से निपटने के लिये अंतरराष्ट्रीय समन्वय नहीं होने पर विश्व के नेताओं ने चिंता जताई अमेरिका के पास सबसे शक्तिशाली हथियार हैं - ट्रम्प व्यापक सुधारों के अभाव में संयुक्त राष्ट्र पर ‘‘भरोसे की कमी का संकट’’ मंडरा रहा : मोदी सुगा ने ट्रम्प से फोन पर की बातचीत बेलारूस : मिंस्क में महिलाओं का प्रदर्शन, 300 से अधिक गिरफ्तार महाभियोग का मतदान पेरू के राष्ट्रपति के पक्ष में रहा