Follow us on
Friday, August 14, 2020
Chandigarh

पीयू में यूजी कोर्सों के लिए प्रवेश परीक्षा नहीं, मेरिट के आधार पर मिलेगा दाखिला

July 30, 2020 06:34 AM

चंडीगढ़ - पंजाब यूनिवर्सिटी (पीयू) में इस बार अंडर ग्रेजुएट (यूजी) कोर्सेज के लिए प्रवेश परीक्षा नहीं होगी। पीयू सिंडीकेट की ओर से गठित कमेटी की ओर से की गई सिफारिशों को वीसी प्रो.राज कुमार ने मंजूरी दे दी है। इस बार मेरिट के आधार पर एडमिशन होंगे और मेरिट के आधार पर एडमिशन वाली क्लासेज में ऑनलाइन क्लासेज एक सितंबर से शुरू होंगी।

पीयू की ओर से बीएससी (आनर्स) कोर्स में दाखिले के लिए होने वाली प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन पार्म और फीस मंगवा ले ली गई थी। अब इस फीस को काउंसिंलग फीस में तब्दील किया गया है। बीएबीएड  और बीएससी फैशन टेक्नोलाजी जैसे जिन कोर्सों में दाखिला एप्टीड्यूड टेस्ट के आधार पर होता है उनमें अब दाखिला बारहवीं के अंकों के आधार पर होगा। कमेटी ने तय किया है कि पीयू से संबद्ध कालेजों में क्लास के सेक्शन के साइज का मुद्दा अंतिम निर्णय के लिए कालेज कमेटी को रैफर किया जाए।

वहीं, पीजी कोर्सों में दाखिले को लेकर फैसला फिलहाल नहीं हुआ है। जब तक यूजी कोर्सों के फाइनल ईयर का परिणाम घोषित नहीं होता है तब तक पीजी कोर्सों में दाखिला प्रवेश परीक्षा के आधार पर देना है या नहीं इस पर फैसला लंबित रखा गया है। ऑनगोइंग क्लासेज में पढ़ाई तीन अगस्त से शुरू हो जाएंगी। अब यह आदेश कॉलेजों को भी भेजे जाएंगे। ऑनलाइन क्लासेज के लिए शेड्यूल और स्टूडेंट की संख्या भी तय कर दी गई है। छात्रों से यह अंडरटेकिंग ली जाएगी कि वह न तो लेक्चर को रिकार्ड करेंगे और न ही उसका उपयोग किसी दूसरे प्लेटफार्म पर करेंगे ताकि आनलाइन लेक्चर के मिसयूज को रोका जा सके।

पीयू के डीयूआई प्रो.आरके सिंगला की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार किसी भी क्लास में 80 से ज्यादा स्टूडेंट नहीं होंगे। इसके अलावा रोजाना पांच पीरियड लगाए जाएंगे।ऑनलाइन पढ़ाई के दौरान सुबह से ही लगातार चार क्लासेज होंगी और टीचरों को एमएचआरडी की सिफारिश के अनुसार कैंपस में आकर पढ़ाई करवानी होगी।चार पीरियड ऑनलाइन होंगे और इसके बाद एक घंटे की क्लास वर्चुअल होगी जिसमें कॉल,व्हाट्सएप या किसी भी अन्य ऐप के सहारे स्टूडेंट्स के डाउट क्लियर किए जाएंगे। टाइम टेबल बनाते समय पहले रेगुलर टीचर्स को काम दिया जाएगा और उसके बाद वर्क लोड बाकी टीचर में बांटा जाएगा। डीन यूनिवर्सिटी इंस्ट्रक्शन को अधिकार दिया गया है कि वह चाहे तो बड़े डिपार्टमेंट के लिए अलग फैसला ले सकते हैं।

कमेटी ने तय किया है कि पीजी और यूजी कोर्सों की जो आनगोइंग क्लासेज हैं उनका परिणाम तैयार किया जाए। इसमें 50 प्रतिशत वेटेज छात्र की ओर से इंटरनल असेसमेंट में हासिल किए गए मार्क्स को दी जाएगी जबकि 50 प्रतिशत वेटेज पिछले सभी सेमेस्टर में छात्र द्वारा हासिल किए गए मार्क्स को दी जाएगी।  आनगोइंग क्लासेज के स्टूडेंट्स को अगले सेमेस्टर में प्रोविजनली प्रमोट कर दिया जाएगा और उनका अगले सेमेस्टर में दाखिला हो जाएगा। यूनिवर्सिटी स्कूल आफ ओपन लर्निंग में दाखिले और छात्रों की प्रमोशन को लेकर प्रस्ताव विभाग की चेयरपर्सन से मंगवाया जाएगा। कमेटी ने यह भी तय किया है कि विभागों की ओर से टीचिंग वर्कलोड पहले रेगुलर फैकल्टी और उसके बाद टेंपरेरी फैकल्टी और फिर गेस्ट फैकल्टी में बांटा जाएगा।

Have something to say? Post your comment
 
More Chandigarh News
ट्राईसिटी में कोरोना वायरस से पांच मौतें, एक दिन में 208 नए केस ट्राईसिटी में कोरोना वायरस से संक्रमित तीन की मौत, 180 नए मामले ट्राईसिटी में एक दिन में 218 नए केस, मोहाली में दो मौतें राजभवन पहुंचा कोरोना वायरस, राज्यपाल के सचिव और चार कर्मचारी हुए संक्रमित वर्चुअल तरीके से मनेगी जन्माष्टमी, ऑनलाइन होंगे भगवान श्री कृष्ण के दर्शन ट्राईसिटी में दो मौतें, एक दिन में आए 209 नए केस छत पर बिना पैसा खर्च किए लगेगा सोलर प्लांट, बिजली बिल में होगी बचत ट्राईसिटी में कोरोना वायरस से संक्रमित हुए चार मरीजों की मौत चंडीगढ़ के अगले एसएसपी के लिए एमएचए ने खारिज की प्रशासन की सिफारिश सीएचबी के इंडीपेंडेंट मकानों में अब रख सकेंगे पेइंग गेस्ट