Follow us on
Wednesday, August 12, 2020
Chandigarh

चंडीगढ़ में जारी रहेगा नाइट कर्फ्यू, शनिवार और रविवार को सुखना लेक पर एंट्री बंद

August 01, 2020 07:43 AM

चंडीगढ़ (मयंक मिश्रा) - केंद्रीय गृह मंत्रालय ने शनिवार से देशभर में चाहे नाइट कर्फ्यू को खत्म कर दिया है, लेकिन शहर के लोगों को फिलाहल नाइट कर्फ्यू से राहत नहीं मिलेगी। चंडीगढ़ में कोरोना के बढ़ते केस को देखते हुए प्रशासन ने रात 10:00 बजे से लेकर सुबह 5:00 बजे तक कर्फ्यू लागू रखने का निर्णय लिया है। इसके साथ-साथ प्रशासन ने सुखना लेक में शनिवार और रविवार को लोगों के लिए प्रवेश को बंद कर दिया है। सुखना लेक वीकेंड पर लोगों के लिए नो एंट्री जोन होगा।

शुक्रवार को राजभवन में पंजाब के राज्यपाल और यूटी के प्रशासक वीपी सिंह बदनोर की अध्यक्षता में हुई प्रशासन की एक उच्च स्तरीय बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक में यह भी तय हुआ कि योग संस्थान और जिमनेजियम 5 अगस्त से  तभी खुल सकते हैं जब केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से इसके लिए एसओपी जारी की जाए।

प्रशासक वीपी सिंह बदनौर की अध्यक्षता में हुई बैठक में निर्णय लिया गया कि शहर में रात 8:00 बजे सभी दुकानें बंद होगी। केवल खान-पान की दुकानें और रेस्टोरेंट्स ही 9:00 बजे तक खुले रहेंगे। इसके अलावा प्रशासन ने शहर की भीड़भाड़ वाली रेहड़ी मार्केट में ऑड-ईवन लागू करने का फैसला लिया है। इसके लिए वित्त सचिव की अध्यक्षता में गठित अधिकृत कमेटी नए सिरे से बाजारों का जायजा लेगी और इस पर फैसला लेगी।

सेक्टर-19 के सदर बाजार, सेक्टर 22 की शास्त्री मार्केट तथा ऐसी व्यस्त मार्केट जहां आने जाने के लिए तंग गलियां हैं। यहां पहले भी ऑड ईवन लागू किया गया था। प्रशासन ने पहले ही अपनी मंशा जता दी थी कि वह शहर में नाइट कर्फ्यू के हक में है। प्रशासन ने दुकानें 8 बजे बंद करने का फैसला लेने से पहले व्यापारियों से बातचीत कर उनकी सहमति ली थी। दुकानदार 8 बजे अपनी दुकानें बंद करने के लिए तैयार थे।

ध्यान रहे कि सुखना लेक शहर का सबसे हॉट स्पॉट क्षेत्र है। कोरोना महामारी में भी यहां सुबह और शाम को सबसे अधिक भीड़ रहती है। बहुत से लोग सुबह सैर करते हुए मास्क नहीं पहनते हैं। लेक पर रोजाना हजारों की संख्या में साइकिल राइडर पहुंचते हैं हैं। वॉक, रेसिंग, योग और अन्य कैटेगरी के लोग अलग हैं। आम दिनों से भी ज्यादा भीड़ इस समय लेक पर रहती है। हालत यह होते हैं कि ट्रैक पर वॉक करने वालों की वजह से उचित दूरी भी नहीं रहती। प्रशासन को डर है कि कहीं लेक पर कोविड संक्रमण न फैल जाए।

यही वजह है कि अनलॉक 1 के शुरू होने पर जब सुखना लेक पर भीड़ आने लगी तो उसने प्रशासन की चिंता को बढ़ा दिया। इसलिए अब इस पर प्रशासन ने सख्त कदम उठाते हुए दो दिन लेक पर एंट्री को बंद कर दिया। इससे पहले प्रशासन लेक पर एंट्री सिस्टम ओपन के बजाय इसे टिकट या टोकन के माध्यम से रखने पर विचार कर रहा था। लेकिन, इस पर प्रशासन के अधिकारियों के बीच सहमति नहीं बन सकी। हालाकि प्रशासक ने नगर निगम सहित अन्य डिपार्टमेंटो को ऐसी व्यवस्था पर विचार करने को कहा है जिससे कोई भी सुखना लेक सीधे न जा सके।

Have something to say? Post your comment
 
More Chandigarh News
ट्राईसिटी में कोरोना वायरस से संक्रमित तीन की मौत, 180 नए मामले ट्राईसिटी में एक दिन में 218 नए केस, मोहाली में दो मौतें राजभवन पहुंचा कोरोना वायरस, राज्यपाल के सचिव और चार कर्मचारी हुए संक्रमित वर्चुअल तरीके से मनेगी जन्माष्टमी, ऑनलाइन होंगे भगवान श्री कृष्ण के दर्शन ट्राईसिटी में दो मौतें, एक दिन में आए 209 नए केस छत पर बिना पैसा खर्च किए लगेगा सोलर प्लांट, बिजली बिल में होगी बचत ट्राईसिटी में कोरोना वायरस से संक्रमित हुए चार मरीजों की मौत चंडीगढ़ के अगले एसएसपी के लिए एमएचए ने खारिज की प्रशासन की सिफारिश सीएचबी के इंडीपेंडेंट मकानों में अब रख सकेंगे पेइंग गेस्ट ट्राईसिटी में 179 नए केस, चंडीगढ़ के 57 और मोहाली के 68 हुए संक्रमित