Follow us on
Friday, January 22, 2021
Business

मोदी ने मत्स्यपालन क्षेत्र के लिए 20,050 करोड़ रुपये की योजना का शुभारंभ किया

September 11, 2020 06:56 AM

नयी दिल्ली (भाषा) - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को 20,050 करोड़ रुपये की प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना (पीएमएमएसवाई) का शुभारंभ किया। इस योजना का मकसद किसानों की आय दोगुनी करने के सरकार के लक्ष्य के तहत मत्स्यपालन क्षेत्र का निर्यात बढ़ाना है।

वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये आयोजित इस कार्यक्रम के जरिये प्रधानमंत्री ने मत्स्यपालन तथा पशुपालन क्षेत्र के लिए कई और योजनाओं की शुरुआत की। इस योजना की शुरुआत बिहार से हुई है। बिहार में अक्टूबर-नवंबर में विधानसभा चुनाव होने हैं।

इसके साथ ही मोदी ने मोबाइल ऐप ई-गोपाला का भी शुभारंभ किया। यह ऐप किसानों को पशुधन के लिए ई-मार्केटप्लस उपलब्ध कराएगी। साथ ही प्रधानमंत्री ने पूर्णिया में अत्याधुनिक सुविधाओं वाले वीर्य केंद्र का भी उद्घाटन किया। इस पर 84.27 करोड़ रुपये का निवेश किया गया है। इस केंद्र के लिए बिहार सरकार ने 75 एकड़ जमीन उपलब्ध कराई है।

इसके उद्घाटन के बाद प्रधानमंत्री ने किसानों से बातचीत की। यह बातचीत मुख्य रूप से पशुधन और मत्स्यपालन क्षेत्रों पर केंद्रित थी।

पीएमएमएसवाई मत्स्य क्षेत्र पर केंद्रित और सतत विकास योजना है। इसे आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत वित्त वर्ष 2020-2021 से 2024-2025 की अवधि के दौरान सभी राज्यों में कार्यान्वित किया जाना है।

प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने बुधवार को कहा कि पीएमएमएसवाई के अंतर्गत 20,050 करोड़ रुपये का निवेश मत्स्य क्षेत्र में होने वाला सबसे ज्यादा निवेश है। इसमें से लगभग 12,340 करोड़ रुपये का निवेश समुद्री, अंतर्देशीय मत्स्य पालन और जलीय कृषि में लाभार्थी केन्द्रित गतिविधियों पर तथा 7,710 करोड़ रुपये का निवेश मत्स्यपालन ढांचे के लिए प्रस्तावित है।

इस योजना के उद्देश्यों में 2024-25 तक मछली उत्पादन अतिरिक्त 70 लाख टन बढ़ाना तथा 2024-25 तक मछली निर्यात से आय को 1,00,000 करोड़ रुपये तक पहुंचाना है।

Have something to say? Post your comment
 
More Business News
मांग को तेज करने वाला, बुनियादी संरचना पर खर्च बढ़ाने वाला हो बजट - भारतीय उद्योग सरकार व्हाट्सऐप की गोपनीयता नीति में बदलावों पर विचार कर रही है - प्रसाद जीएसटी क्षतिपूर्ति के लिये वित्त मंत्रालय ने 6,000 रुपये की अगली किस्त जारी की डीजल, पेट्रोल पर रिकॉर्ड कर वृद्धि से चालू वित्त वर्ष में उत्पाद शुल्क संग्रह 48 प्रतिशत बढ़ा आर्थिक पुनरोद्धार, वित्तीय स्थिरता को समर्थन देने की जरूरत - शक्तिकान्त दास गूगल ने पूरा किया फिटबिट का 2.1 अरब डॉलर का अधिग्रहण ट्रम्प प्रशासन ने एच-1बी श्रमिकों के वेतन में बढ़ोतरी के लिए अंतिम नियमों की घोषणा की दिल्ली में पेट्रोल 84.45 रुपये प्रति लीटर के उच्चस्तर, मुंबई में 91 रुपये के पार कृषि बजट 2021-22: सरकार को कृषि क्षेत्र को अतिरिक्त धन, प्रोत्साहन देना चाहिए, विशेषज्ञों ने कहा फॉक्सवैगन फाइनेंस ने केयूडब्ल्यूवाई टेक्नालॉजी सर्विसेज में बहुलांश हिस्सेदारी हासिल की