Follow us on
Saturday, January 18, 2020
BREAKING NEWS
कट्टरपंथी सोच से मुक्ति दिलाने वाली टिप्पणी पर औवेसी ने प्रमुख रक्षा अध्यक्ष पर निशाना साधाधवन शतक से चूके, कोहली, राहुल ने भारत को मजबूत स्कोर तक पहुंचायाप्रवर्तन निदेशालय ने भूषण पावर एंड स्टील के पूर्व चेयरमैन के खिलाफ आरोप-पत्र दाखिल कियाप्रियंका चोपड़ा छाईं हॉलीवुड के फ़लक़ पर, एवेंजर्स के डायरेक्टर ने किया साइननिर्भया मामला : अदालत ने दोषियों को एक फरवरी की सुबह छह बजे फांसी देने का नया मृत्यु वारंट जारी कियाएरियन रॉकेट से इसरो के जीसैट 30 उपग्रह का सफल प्रक्षेपणन्यायालय को सरकारी तथा सार्वजनिक वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों में तब्दील करने की याचिका पर नोटिसदिल्ली चुनाव के लिए भाजपा ने 57 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की
Editorial
एनआरसी के मुद्दे पर देश में बढ़ती उलझन

देशभर में इन दिनों राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) को लेकर बड़ी बहस छिड़ी है। मामला देश में कई दशकों से पीढ़ी-दर-पीढ़ी रह रहे ऐसे लाखों लोगों का है, जिनकी नागरिकता अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाई है। यहां इस मुद्दे पर आगे बढऩे से पहले यह जान लेना भी जरूरी है कि राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर आखिरकार है क्या? एनआरसी, दरअसल किसी राज्य या देश में रह रहे नागरिकों की विस्तृत रिपोर्ट होती है।

सीबीएसई : 10वीं और 12वीं में फेल हुए छात्र रेग्युलर स्टूडेंट के तौर पर दे सकेंगे एग्जाम

नई दिल्ली - पिछले साल सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंड्री एजुकेशन (सीबीएसई बोर्ड) एग्जाम में फेल हुए छात्रों को बोर्ड ने राहत दी है। सीबीएसई का कहना है कि अगर कोई छात्र 10वीं और 12वीं में फेल हो गया है, तो वह रेग्युलर छात्र के तौर पर फिर से परीक्षा दे सकता है.