Follow us on
Wednesday, November 14, 2018
Feature
छठ पूजा एक ऐसी पूजा जिसमें पंडित की जरूरत नहीं पड़ती

शायद ही ऐसा कोई महीना बीतता हो, जब कोई त्योहार न आए। यहां तक कि पूर्वजों के श्राद्ध के लिए भी यहां एक पखवाड़ा निर्धारित है। लेकिन छठ पूजा के पीछे सामाजिकता और लोक आस्था ही वे तत्व हैं, जिसके कारण इसे महापर्व की संज्ञा दी जाती है। वहीं, इस पूजा में किसी पुरोहित की आवश्कता न पड़ना, डूबते सूरज की आराधना जैसे भी कई कारण हैं, जिससे इस पूजा का महात्म्य और बढ़ जाता है।

मेथी और दालचीनी खानें में शामिल करें और पाएं तोंद और मोटापे से छुटकारा

आयुर्वेद के अनुसार, बैली फैट कई तरह की बीमारियों को शरीर में घर करने देती है। जिनकी लाइफस्टाइल में एक्सरसाइज नहीं शामिल होती साथ ही उनके खाने-पीने के चीजों में हेल्दी चीजें भी शामिल नहीं होती, वो पूरा दिन थकान महसूस करते हैं।

लहसुन और शहद का पेस्ट दिल के लिए बहुत फायदेमंद है

लहसुन और शहद का उपयोग हर घर में किया जाता है और इनके फायदों से भी हम सभी वाकिफ हैं। वहीं शहद ऐंटि-बायॉटिक, ऐंटि-बैक्टीरियल गुणों और लहसुन में एलिसिन व फाइबर की मौजूदगी के कारण हमें कई तरह के पोषक तत्व भी देता है।

दीपावली में दीपक जलाते वक्त ध्यान रखें ये बातें

इस बार दीपावली का पर्व पूरे भारतवर्ष में 7 नवंबर को मनाया जाएगा. इस पर्व को प्रकाश का पर्व कहा जाता है. इस दिन चारों तरफ दीपकों और झालरों से वातावरण जगमगाता रहता है. दीवाली में मिट्टी के दियों का बहुत महत्व है. आप कई बार दीवाली के दिन दीपक तो जलाते हैं लेकिन आपको दीपकों को विधि-विधान से तैयार करने के बारे में नहीं पता होगा तो चलिए आज हम आपको दीपक से जुड़ी बातों को बताते हैं ताकि गणेश-लक्ष्मी की कृपा आप पर जल्दी पड़े.

दिवाली पर ऐसे सजाएं अपना आशियाना, खिल उठेगा घर, प्रसन्न हो जाएंगी मां लक्ष्मी

दीपावली की सजावट में शुभता का प्रतीक मानी जाने वाली रंगोली, तोरण और दीये इनका भी अपना विशेष महत्व होता है। यदि वास्तु नियमों के अनुसार दिशाओं और रंगों को ध्यान में रखकर कार्यस्थल या घर की सजावट की जाए तो निश्चित रूप से हमें शुभ परिणाम प्राप्त होंगे एवं खुशियां, सफलता और समृद्धि हमारे जीवन में दस्तक देंगी।

चेहरा बता देता है आपकी सेहत का राज

इंसान के बताए बिना ही चेहरा ये बता देता है कि व्यक्ति परेशान है, थका हुआ है या उसकी नींद पूरी नहीं हुई है. इसका असर व्यक्ति के शरीर पर भी पड़ता है लेकिन अगर आप इन कारणों से परेशान हैं तो आपकी इस परेशानी का हल आपको आपकी नींद से ही मिलेगा. दरअसल, किसी भी व्यक्ति के लिए जिस तरह के खाना पीना जरूरी है. 

इस तरह रखें बच्चे के दांतों की देखभाल

बच्चे की मुस्कान को बनाएं रखने के लिए उसके ओरल हेल्थ का ख्याल रखना जरुरी है। आपको जन्म के कुछ समय बाद ही बच्चे की ओरल हेल्थ की देखभाल करना शुरु कर देना चाहिए। ओरल हेल्थ का मतलब केवल बच्चे के दांतों से नहीं होता। बच्चे के दांत निकलने से पहले आप उसके मसूड़ों और जीभ को हर रोज साफ करें। दांत निकलने के बाद आप बच्चे को दिन में दो बार दो मिनट के लिए ब्रश कराएं।

सदाबहार फूल का महत्वपूर्ण चिकित्सा रहस्य का खोज कर लिया गया

अब से 60 साल पहले सदाबहार पौधों में जिद्दी कैंसर सामने आया था लेकिन अब इस रहस्य से भी पर्दा उठाया गया है कि आखिर इस फूल में इन यौगिकों कैसे पैदा होते हैं? विशेषज्ञों के अनुसार मेडागास्कर पेरी वनकल या राज पेरी वनकल सदाबहार फूलों की एक किस्म है। इस पते से वन बलस्टेन नामक संगठन निकाला जाता है। 

झुर्रियों से न हों परेशान, अपनाएं यह घरेलू उपचार

झुर्री अक्सर बढ़ती उम्र में होती है। लेकिन आज की जीवनशैली में निरंतर परिवर्तन का कारण अब भी झुर्री का कारण है। आम तौर पर महिलाएं झुर्रियों वाली त्वचा के बारे में शिकायत करती हैं। यद्यपि आप पार्लर में जाते समय झुर्री के लिए कुछ सुझाव प्राप्त कर चुके हैं या आपको सर्जरी से गुजरने का सुझाव दिया जा सकता है।

विटामिन-एन से न रहें दूर

एक्सरसाइज करने से ढेरों फायदे मिलते हैं, लेकिन हरियाली से भरपूर जगह पर एक्सरसाइज करने से इसके फायदे कई गुना बढ़ जाते हैं। हरी-भरी जगह में एक्सरसाइज करने से ब्लड सर्कुलेशन सही रहता है, जिससे दिल स्वस्थ रहता है और बीमारियों का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है। इससे आपका मस्तिष्क शांत रहता है। 

करवाचौथ : सजना है मुझे सजना के लिए

करवा चौथ के दिन महिलाएं इतनी सुन्दर लगती है जिस से कोई एक शब्द में बयान नहीं कर सकता। करवाचौथ के दिन पत्नियां अपनी सुंदरता में चार चाँद लगाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ती। तो वहीं आज कल की महिलाएं दिखने में सुंदर और हलकी साड़ी पहना पसंद करती है और साथ ही उस से ही मैचिंग गहने भी पहना पसंद करती हैं।

लहसुन बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए है प्राकृतिक जरिया

विशेषज्ञों का दावा है के लहसुन ऐसी प्राकृतिक दवाई है जिस के उपयोग से सैकड़ों प्रकार की बीमारियां खत्म हो जाती हैं।मनुष्य पुराने ज़माने से लहसुन का उपयोग करता आया है प्राचीन रोमन, मिस्र, ईरान, अरब, चाईनज़ और दुनिया के विभिन्न देशों ने लहसुन के लाभ माना गया है जबकि लहसुन को मसालों का 'सरदार' भी कहा गया है।

सौंफ से होने वाले फायदे हैरान कर देंगे

सौंफ का इस्तेमाल खाने के स्वाद को बढ़ाने के लिए किया जाता है. सौंफ में भरपूर मात्रा में औषधीय गुण मौजूद होते हैं. जो सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं. इसके अलावा सौंफ एक अच्छे माउथ फ्रेशनर के रूप में भी काम करता है. सौंफ के सेवन से आप सेहत से जुड़ी कई समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं।

इन बीमारियों में काम आएगा नारियल तेल

नारियल का तेल इस्तेमाल ज्यादातर लोग चेहरे और बालों पर करते हैं लेकिन इसमें मौजूद स्वास्थ्य गुणों को बारे में शायद आप लोग होंगे। दरअसल, नारियल तेल को प्राकृतिक औषधि माना जाता है जो हमे कई तरह की बीमारियों से बचाएं रखती है। आइए जानते है नारियल तेल के इस्तेमाल से कैसे स्वास्थ्य फायदा मिलता है।

आंखों के लिए बेस्ट है योग मूड करना हो अच्छा, तनाव को भगाना हो दूर, रोज खाएं केले फिट रहने के लिए खाली पेट पिएं सेब की चाय क्यों हुई थी मां वैष्णों और भैरो बाबा की लड़ाई आज से शुरू होगी नवरात्रि, बनेंगे कई शुभ योग बादाम खाने का ये तरीका तो, हो जाएंगे तरोताजा इम्यून सिस्टम रहेगा मजबूत मेकअप के समय ऑयली स्किन वाली महिलाएं रखें विशेष ध्यान ऑयली स्किन वालो के लिए दही है काफी फायदेमंद दिल से कीजिए दिल की हिफाजत घर पर खुद तैयार करें यह सेरम और पाएं एक स्वस्थ और सुंदर त्वचा वज़न कम करना चाहते है तो उससे पहले जान ले कुछ विशेष बातें झुर्रियों से बचने के कुछ आसान तरीके खाने के साथ आज ही ट्राई करें खीरा रायता सूखी आंखों की रोकथाम के लिए प्राकृतिक उपचार आपके दिमाग को स्वस्थ्य बनाता है पालक मुंह के छालों से राहत पाने के लिए करें अंजीर के पत्तों का इस्तेमाल मौसम में बीमारियों से बचने के लिए ये प्राकृतिक उपाय करें नाश्ता: रंगबिरंगा पास्ता सलाद घर पर आसानी से बनाएं रेस्टोरेंट जैसा कढ़ाई पनीर आम की पत्तियां आपके शरीर के किडनी, लीवर, फेफड़ा में जमी गंदगी को बाहर निकाल देती है सुबह-सुबह खाली पेट जरूर पीएं 1 गिलास पानी डायबिटीज रहेगी दूर करें ये घरेलू उपाय दिल के मरीजों के लिए बेस्ट है यह खानपान चीज़ खाना आपके स्वास्थ्य को फायदा पहुंचा सकता है घर पर मातृ भाषा बोलने वाले बच्चे होते हैं मेधावी 24 अगस्त : ईस्ट इंडिया का पहला जहाज सूरत पहुंचा बालों को रोज रोज धोने से नहीं, ड्रायर लगाने से होता है नुकसान सावन: भगवान शिव के पूजन के दौरान इन मंत्रों के जाप से मिलता है उत्तम फल 15 मिनट में चेहरे को गोरा करने के घरेलू उपाय